डेराबस्सी सिविल अस्पताल में रिटायर्ड फौजी ने फैलाई दहशत, अस्पताल में एडमिट मरीज बेड छोड़कर भागे | Hindxpress

डेराबस्सी सिविल अस्पताल में रिटायर्ड फौजी ने फैलाई दहशत, अस्पताल में एडमिट मरीज बेड छोड़कर भागे

पंजाब में फिलहाल नहीं लागू होगा नया मोटर वाहन कानून
हरियाणा में विधानसभा चुनाव लडने को तैयार अकाली दल

डेराबसी (गुरमिंदर सिंह) : हाथ में चाकू लिए एक रिटायर्ड फौजी ने डेराबस्सी सिविल अस्पताल में बीती रात करीब एक घंटे तक जमकर उत्पात मचाया। अस्पताल के डॉक्टर, मेडिकल स्टाफ, मरीज और उनके तीमारदार तो एक तरफ, पुलिस कर्मी भी इस कदर दहशत में भगदड़ का शिकार हुए जैसे सिविल अस्पताल में कोई बड़ा आतंकी हमला हो गया हो। उसे काबू करने के प्रयास में डयुटी अफसर एएसआई गुरमुख्र सिंह व सफाई कर्मी कुलदीप सिंह भी जख्मी हो गए।

बावजूद इसके फौजी न केवल पुलिस की पकड़ से बाहर रहा, बल्कि तड़के 6 बजे और सुबह 11 बजे फिर अस्पताल लौटा परंतु काबू नहीं आया। रात करीब साढे दस बजे अस्पताल में घुसे इस फौजी के पास एक बैग था जबकि हाथ में म्यान में एक चाकू लिए हुए था। वह बार-बार यही कह रहा था कि डॉक्टर को भेजो उसे मार दूंगा। देर शाम रिटायर्ड मेजर बताने वाले आरोपी 61 वर्षीय गोविंद बख्शीश सिंह वासी चंडीगढ़ के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया।

जख्मी व बीमार मरीज भी उठ खड़े होकर बचने को दौड़े

सबसे अधिक दहशत फैली जब पहली मंजिल पर मर्दाना वार्ड में घुसे फौजी ने अंदर से दरवाजा बंद कर लिया। इससे वहां मौजूद करीब दो दर्जन मरीज और उनके तीमारदारों में दहशत का माहौल रहा। मर्दाना वार्ड का दरवाजा खोलकर जब फौजी बाहर निकला तो बाहर खड़े दर्जनों लोग इधर-उधर भागे। इतना ही नहीं, जख्मी और बीमार मरीज जो उठ सकने की हालत में भी नहीं थे, वे भी न केवल उठ खड़े हुए, बचाव के लिए सुरक्षित जगह की तलाश में दौड़े। सुबह 6:00 बजे उसने आधा घंटे तक फिर दहशत का माहौल बनाए रखा। बात यहीं खत्म नहीं हुई, वह कुछ घंटे बाद 10:30 बजे यह शख्स फिर मर्दाना वार्ड में आ गया और डॉक्टर को जान से मारने के लिए बुदबुदाता रहा। आधे घंटे के बाद वह अपने आप अस्पताल के बेड की हरी चादर लपेट कर वहां से चलता बना।


पकड़ने आए पुलिस डयुटी अफसर पर चाकुओं से हमला

फौजी के हाथ में चाकू और उसका गुस्से में तमतमाता चेहरा देख उसे पकड़ना तो दूर, किसी की उसका पीछा कर पकड़ने की हिम्मत नहीं दिखाई। मरीज अपनी चोट व बीमारी भूल गए। एसआई गुरमुख सिंह के अनुसार वह उसके पेट पर चाकू मारना चाहता था परंतु उसने चाकू पकड़ लिया जिससे उसके हाथ में दो जगह गहरे जख्म आए हैं। चाकू कब्जे में ले लिए जाने पर फौजी ने ग्लूकोज लगाने वाली रॉड से हमला किया जिससे गुरमुरख का दूसरा हाथ भी चोटिल हो गया जैसे तैसे दूसरे लोगों की सहायता से उसे काबू किया गया परंतु वह फिर नीचे उतर कर इमरजेंसी वार्ड के रास्ते बाहर निकल गया। 6 फीट लंबा तगड़ा हमलावार अंडरवियर व बनियान में था। वह दिमागी तौर पर अपसेट बताया गया है।

मरीज, तीमारदार, डॉक्टर व स्टाफ, सब खौफ खाए हुए

इमरजेंसी में नाइट ड्यूटी डॉक्टर हरप्रीत कौर ने 100 नंबर पर डायल करने के अलावा अस्पताल के सीनियर अफसरों को भी फोन किया। मरीज व तीमारदार अलग से परेशान हुए ड्यूटी अफसर एएसआई गुरमुख सिंह घायल हुए जबकि एक सफाई सेवक कुलदीप सिंह के हाथ पर भी चोट आई है। इस वारदात के बाद से अस्पताल में मरीज, उनके तीमारदार ही नहीं बल्कि डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ भी खौफ खाए हुए हैं। इस तरह की घटना से बचने के लिए एसएमओ ने एसडीएम से मिलकर सुरक्षा की मांग की है।

तीन बार फैलाई दहशत, पर पकड़ा किसी ने नहीं

ड्यूटी अफसर गुरमुख सिंह के अनुसार मेजर के पास मौजूद बैग में करीब 1 फुट लंबी कटार नुमा चाकू मिला है जबकि दूसरी कटार वाला 6 इंची चाकू निकालकर उसने हमला किया चाकू काबू में जब किए जाने पर वह ग्लूकोस 10 हाथ में लेकर ग्लूकोस स्टैंड की रोड हाथ में लेकर वह लोहे का गुरुकुल सिस्टम हाथ में लेकर हमला के ताज्जुब इस बात का है की फौजी को एक बार में ही काबू किया जा सकता था लेकिन वह फौजी पुलिस के सामने आराम से निकल गया सुबह 6:00 बजे में फिर अस्पताल आदम का और पुलिस को फोन किया कि इसे हिरासत में लिया जाए परंतु पुलिस नहीं पहुंची दोपहर 10:30 बजे यह फिर वहां आदमी का 21 पुलिस वाले आए परंतु फौजी का लंबा चौड़ा डील डाल दे उन्होंने फौजी से पंगा नहीं लिया थोड़ी देर बाद फौजी खुद ही अस्पताल के बेड की हरी चादर लपेट कर वहां से चलता बना

पहले भी कर चुका है एक एएसआई को चाकुओं से हमला

एसएचअो वरिंदर सिंह के अनुसार करीब तीन साल पहले इसने ढ़कोली में तैनात एएसआई बलविंदर सिंह पर भी चाकुओं से हमला कर उसे जख्मी कर दिया था। इस मुकदमे में आरोपी जेल भी काटकर आया है। शाम को पुलिस ने घायल डयुटी अफसर एएसआई गुरमुख सिंह की शिकायत पर रिटायर्ड मेजर गोविंद बख्शीश सिंह पुत्र गुरदेव सिंह वासी मकान नंबर 1613, सेक्टर 18 डी, चंडीगढ़ के खिलाफ आईपीसी 323, 324, 325, 451, 332, 506, 353 और 186 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। आरोपी से एक लंबा चाकू और हमले में इस्तेमाल किया गया छोटा चाकू भी बरामद कर लिया गया है। पुलिस उसे गिरफ्तार करने के लिए दबिश कर रही है।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0