Home / Haryana / फतेहाबाद में व्यापारियों व मजदूरों का अनोखा विरोध प्रदर्शन,बजे पीपे और तालियां

फतेहाबाद में व्यापारियों व मजदूरों का अनोखा विरोध प्रदर्शन,बजे पीपे और तालियां

फतेहाबाद के व्यापारियों ने आज अनाज मंडी में सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन किया। व्यापारियों ने रोष स्वरूप तालियां और पीपे बचाकर सरकार का विरोध किया। जुलूस के रूप में नारेबाजी करते हुए व्यापारी पूरी अनाज मंडी में घूमें और जमकर पीपे बजाए। व्यापारियों के साथ मजदूर यूनियन के सदस्य भी मौजूद रहे। अधिकतर व्यापारी जुलूस निकाल रहे थे तो कुछ व्यापारी अपनी दुकान के बाहर खड़े होकर पीपे बजा कर अपना रोष जाहिर कर रहे थे। हालांकि इस रोष प्रदर्शन के दौरान व्यापारियों ने सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ाई। अनाज मंडी में व्यापारी जुलूस की शक्ल में बाहर निकले और  सुशील डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते हुए एक दूसरे से सटकर चलते दिखाई दिए।

Advertisements
फतेहाबाद व्यापार मंडल के सचिव रमेश तनेजा ने बताया कि व्यापारी सरकार के ई ट्रेडिंग निर्णय का विरोध कर रहे हैं। आज व्यापारियों ने पीपे और तालियां बजाकर सरकार के खिलाफ रोष जताया है। वहीं व्यापारियों द्वारा अपने बही खाते और एच रजिस्टर मार्केट कमेटी कार्यालय में रोष स्वरूप जमा करवा दिए गए हैं। व्यापारियों ने कहा कि जब तक उनकी मांग नहीं मानी जाती उनकी हड़ताल जारी रहेगी और रोष प्रदर्शन चलता रहेगा। आज मंडी में व्यापारियों द्वारा आधे घंटे तक पीपे और तालिंया रोष प्रदर्शन किया गया।
रोष प्रदर्शन में शामिल हरियाणा मंडी मजदूर यूनियन की प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र खटक ने बताया कि सरकार को व्यापारियों की मांग माननी चाहिए। अगर मंडी में गेहूं आएगी तभी मजदूर को रोजगार मिलेगा और उसका पेट भरेगा। आज मजदूर भी व्यापारियों के रोष प्रदर्शन में शामिल हुए हैं और पीपे और तालियां बजाकर सरकार के खिलाफ रोष जाहिर किया है। उन्होंने सरकार से गुहार लगाई कि वह व्यापारियों की मांग पर गौर करें ताकि मजदूर का रोजगार भी बचा रहे।
Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

jind-kisann-dharna

जींद में कृषि अध्यादेशों के विरोध में आढ़तियों का अनिश्चितकालीन धरना

जींद(रोहताश भोला) : नए कृषि अध्यादेशों के विरोध में आढ़तियों ने हड़ताल करते हुए अनिश्चितकालीन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!