Breaking News
Home / Chandigarh / परिवहन मंत्री ने किया ऑनलाइन ट्रांसफर ड्राइव का शुभारम्भ

परिवहन मंत्री ने किया ऑनलाइन ट्रांसफर ड्राइव का शुभारम्भ

चंडीगढ़। हरियाणा के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने अवैध वाहनों के प्रति एक बार फिर से कड़ा रुख अख्तियार करते हुए कहा कि सवारियां ढोने में लगे ऐसे वाहन चालक जिन के पास न परिमट है, न इन्श्योरेंस है और न ही फिटनेस है ऐसे लोग जनता के जीवन से खिलवाड़ कर रहे हैं और प्रदेश में इस तरह के वाहनों को किसी भी सूरत में चलने नहीं दिया जाएगा। ऐसे अवैध वाहनों की चैंकिंग के लिए सम्बन्धित डिपो महाप्रबन्धक और डीटीओ द्वारा संयुक्त टीमें बनाकर टोल प्लाजा पर नाके लगाए जाएंगे। परिवहन मंत्री ने यह बात आज यहां परिवहन विभाग में ऑनलाइन ट्रांसफर ड्राइव के शुभारम्भ के मौके पर कही।

Advertisements

परिवहन मंत्री ने शुक्रवार को चंडीगढ़ में परिवहन विभाग में ऑनलाइन ट्रांसफर ड्राइव के शुभारम्भ के मौके पर बताया कि इस तबादला अभियान के तहत आज 53 इंस्पेक्टर और 89 क्लर्कों को मिलाकर कुल 144 कर्मचारियों ने डिपो या लोकेशन के लिए अपना विकल्प भरा था। इनमें से 45 कर्मचारियों को प्रथम विकल्प जबकि 32 को दूसरा विकल्प मिला है इनमें से 8 इंस्पेक्टर और 26 क्लर्कों का तबादला किया गया है।

Advertisements
HINDXPRESS NEWS CLICK HERE

 

 

उन्होंने बताया कि राज्य परिवहन निदेशालय ने स्वैच्छिक भागीदारी की अंतिम तिथि 27 अक्तूबर के अनुसार क्लर्कों और इंस्पेक्टरों के काडर में 15 अक्तूबर को ऑनलाइन ट्रांसफर अभियान की शुरुआत की थी। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन तबादले शुरू होने से न केवल विभाग की तबादला प्रक्रिया में पारदर्शिता आएगी बल्कि इससे कर्मचारी भी संतुष्ट होंगे। पहले जहां कर्मचारियों को तबादलों के लिए चंडीगढ़ के चक्कर लगाने पड़ते थे वहीं अब इस प्रक्रिया से कर्मचारी घर बैठे तबादलों के लिए अपना विकल्प दे सकते हैं। उन्होंने बताया कि 500 कर्मचारियों से अधिक संख्या वाले काडर में यह सिस्टम लागू होगा।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 के बाद धीरे-धीरे जन-जीवन पटरी पर लौट रहा है। इसलिए जल्द ही किलोमीटर स्कीम की बसों के साथ-साथ लंबे रूट की सभी बसें चलाई जाएंगी ताकि आमजन को आने-जाने के लिए सस्ता और भरोसेेमंद विकल्प उपलब्ध हो। उन्होंने कहा कि डिपो महाप्रबंधक या ट्रैफिक मैनेजर द्वारा स्थानीय स्तर पर 4-5 कर्मचारियों की टीम बनाई जाएगी जो जमीनी स्तर पर बसों की जरूरत का पता लगाएगी। इस संबंध में साप्ताहिक या महीने के हिसाब से योजना बनाई जाएगी।

 

Check Also

haryana roadways

हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला : जब तक किसान आंदोलन जारी रहेगा, हरियाणा रोडवेज की कोई बस पंजाब नहीं जाएगी

किसानों के दिल्‍ली कूच के मद्देनजर हरियाणा सरकार ने बड़ा फैसला लिया है, जिसके तहत …