Home / Chandigarh / कुरूक्षेत्र के गीता जयंती महोत्सव में इस बार 15 देश हैं भागीदार

कुरूक्षेत्र के गीता जयंती महोत्सव में इस बार 15 देश हैं भागीदार

चंडीगढ,25नवम्बर। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट््टर ने सोमवार को यहां कहा कि पिछले 23 नवम्बर से कुरूक्षेत्र में शुरू हुए अन्तरराष्ट्ीय गीता महोत्सव में इस बार 15 देश भागीदारी कर रहे है। कुरूक्षेत्र को इस समारोह के साथ अन्य पर्यटन विकास के जरिए अन्तरराष्ट््ीय पहचान दिलाने के प्रयास लगातार किए जा रहे है। इसी सिलसिले में कुरूक्षेत्र में भव्य भारत माता मंदिर के निर्माण की योजना बनाई गई है। पिछले समारोह में तीस से चालीस लाख तक लोग मेले में आए थे और इस बार संख्या और बढने की उम्मीद है। इस बार भी राष्ट््पति को समारोह में आमंत्रित किया गया है लेकिन व्यस्तता के चलते उनके आने की उम्मीद कम है।

Advertisements

 

 

 

मुख्यमंत्री ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि दुनिया के देश अब गीता जयंती समारोह में दिलचस्पी ले रहे है। जब उन्हें कुरूक्षेत्र में आयोजित गीता जयंती समारोह में आमंत्रित किया जाता है तो वे जवाब देते है कि वे अपने देश में ही गीता जयंती समारोह आयोजित करेंगे। उन्होंने कहा कि पिछली बार मॉरिशस व ब्रिटेन में गीता जयंती समारोह आयोजित किया गया था। इस बार आस्ट््ेलिया में समारोह आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस बार गीता जयंती समारोह का भागीदार प्रदेश उत्तराखण्ड है और जापान को भागीदार देश के रूप में आमंत्रित किया गया है। जापान के जवाब का इंतजार किया जा रहा है।
 

 

 

मनोहर लाल ने बताया कि इस बार गीता जयंती समारोह की छटा कुछ हटकर होगी। समारोह में अमरीका,जापान,इंडोनेशिया समेत 15 देशों के विद्वान भागीदारी करने जा रहे है। समारोह के तहत तीन दिन की अन्तरराष्ट््ीय संगोष्ठी होगी। विशाल शोभायात्रा निकाली जायेगी। करीब अठारह हजार छात्र व तीन हजार नागरिक एक साथ गीता श्लोकों का पाठ करेंगे। शोभायात्रा आठ  दिसम्बर को निकाली जायेगी। आगामी छह से आठ दिसम्बर तक प्रदेश के हर जिला मुख्यालय पर भी गीता जयंती समारोह आयोजित किए जायेंगे। कुरूक्षेत्र के सौ किमी के दायरे में आने वाले नौ जिलों से रोजाना कुरूक्षेत्र के लिए बसों का संचालन किया जाएगा। इसके लिए सौ बसें लगाई जायेंगी। कुरूक्षेत्र की 48 कोस की परिक्रमा में आने वाले स्थानों पर भी गीता जयंती के कार्यक्रम आयोजित किए जायेंगे। आगामी 26 दिसम्बर को सूर्यग्रहण पर कुरूक्षेत्र में मेला आयोजित किया जाएगा।

Advertisements

 

 

 

 

मुख्यमंत्री ने बताया कि कुरूक्षेत्र में पांच एकड भूमि पर भव्य भारत माता मंदिर बनाने की योजना है। गीता शोध केन्द्र भी स्थापित किया जाएगा। इस तरह कुरूक्षेत्र को धार्मिक,सांस्कृतिक और सामाजिक केन्द्र बनाने की योजना है। हरियाणा पर्यटन निगम द्वारा विकसित किए जा रहे 48 कोस के श्रीकृष्ण सर्किट में कुरूक्षेत्र भी शामिल है। निगम इस सर्किट पर 100 करोड रूपए खर्च करने जा रहा है। कुल 48 कोस में 134 स्थल है। कुरूक्षेत्र का ब्रह््मसरोवर 30 स्वच्छ स्थानों में शामिल है। अब ब्रह््मसरोवर में तीस दिन में पानी बदला जाता है। उन्होंने बताया कि देश के अन्य प्रदेश कुरूक्षेत्र आने वाले श्रद्धालुओं के लिए अपने भवन वहां बनाना चाहेंगे तों उन्हें 1500 से 2000 मीटर तक जमीन दी जायेगी।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

पानी के बढ़ते दामों के खिलाफ chandigarh Youth Congress ने नगर निगम के बाहर मटके लेकर किया प्रदर्शन

पानी के बढ़ते दामों के खिलाफ chandigarh Youth Congress ने नगर निगम के बाहर मटके लेकर किया प्रदर्शन

चंडीगढ़। बीजेपी शासित नगर निगम द्वारा पानी के दामों में तीन गुना बढ़ोतरी को लेकर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!