Home / Haryana / घर में नही था कोई कमाने वाला तो सामाजिक संस्थाओं ने ऐसे की मदद -पढ़ें पूरी खबर…

घर में नही था कोई कमाने वाला तो सामाजिक संस्थाओं ने ऐसे की मदद -पढ़ें पूरी खबर…

भिवानी, 19 अगस्त : मनुष्य की मूलभूत आवश्यकताएं रोटी, कपड़ा और मकान होते हैं। भिवानी जिला के गांव धाहरेडू की विधवा सुमन व गांव जुई की महिला खुशी के लिए सामाजिक संगठनों के लोग जब मदद को आगे आए तो वर्षो से मकान से महरूम इन महिलाओं के सिर पर सम्मान से जीवन जीने के लिए छत बन गई तथा उनका अपना मकान बनाकर देने में एक-दो व्यक्ति नहीं, बल्कि सैंकड़ों लोगों ने कारसेवा कर इनके मकानों को बनाने का कार्य किया।

Advertisements

भिवानी निवासी व डेरा सच्चा सौदा के जिम्मेवार घनश्याम इन्सां ने बताया कि गांव जुई की निशा पत्नी संजय व गांव धाहरेडू की महिला सुमन पत्नी जकुमार ने जब उनके सामने इस बात का जिक्र किया कि उनके पास रहने को अपना मकान नहीं है तो डेरा सच्चा सौदा की साध संगत ने धन एकत्रित कर लगभग 50 से ज्यादा संख्या में कारसेवा कर इनका मकान एक ही दिन में बनाकर खड़ा कर दिया।

उन्होंने बताया कि जुई खुर्द निवासी महिला खुशी अस्वस्थ रहती है तथा उनकी एक 17 वर्षीय बेटी है तथा उनके पति मजदूरी करते हैं। उनके पास अपना रहने को मकान नहीं था तो डेरा सच्चा सौदा की साध संगत ने इनका 12बाई12 का एक कमरा, 7बाई6 की एक रसाई, टॉयलेट व बाथरूम एक लाख 65 हजार रूपये एकत्रित कर कारसेवा करते हुए 11 अगस्त को रिकॉर्ड एक ही दिन में बनाने का काम किया। वही गांव धाहरेडू की विधवा सुमन जो मात्र बुढ़ावा पेंशन पर अपना गुजर-बसर करती हैं। उसका मकान जर्जर अवस्था में था तथा छत टपक रही थी। आज उनका मकान की छत पक्की की गई, दीवारों की लिपाई की गई तथा कच्चे फर्श व आंगन को पक्का किया गया, जिस पर 65 हजार रूपये खर्चा आया। जबकि 50 के लगभग सेवादारों ने यहां पर कारसेवा कर उनका मकान बनाकर दिया। गौरतलब है कि जरूरतमंदों की मदद के लिए डेरा सच्चा सौदा की भिवानी ईकाई के सेवादार हमेशा तत्पर रहते हैं।

Advertisements
Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

rohtak-gurnam-singh

अंबावता के प्रदेशाध्यक्ष का समर्थन मिलते ही गुरनाम सिंह चढूनी ने कर दिया बड़ा एलान – देखें

रोहतक (सनी ) : केंद्र सरकार के 3 कृषि अध्यादेशों के विरोध में 20 सितंबर …

error: Content is protected !!