Home / Chandigarh / दिल्ली को हरियाणा की राजधानी बनाने का विचार निजी-मनोहर

दिल्ली को हरियाणा की राजधानी बनाने का विचार निजी-मनोहर

चंडीगढ,26नवम्बर। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने मंगलवार को यहां संविधान दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित विधानसभा के एक दिन के विशेष सत्र के अवसान के बाद कहा कि दिल्ली को हरियाणा की राजधानी बनाने जैसा विचार निजी है।
उन्होंने कहा कि निजी स्तर पर कोई भी अपनी राय रख सकता है। इस बारे में सरकार के स्तर पर कोई पहल नहीं की गई है। उल्लेखनीय है कि नेता प्रतिपक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने विधानसभा में संविधान पर चर्चा में भाग लेते हुए कहा था कि उत्तरप्रदेश के यमुना किनारे के इलाकों को शामिल कर हरियाणा को विशाल रूप दिया जाए और दिल्ली को इसकी राजधानी बनाया जाए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि एक दिन के विशेष विधानसभा सत्र में संविधान के प्रति निष्ठा का संकल्प पारित किया गया। संविधान में मौलिक अधिकारों के साथ कर्त्तव्यों का उल्लेख भी है। अब संविधान रचयिता डॉ अम्बेडकर के जन्म दिन 14 अप्रेल तक जनजागरूकता अभियान चलाकर लोगों को कर्त्तव्यों के प्रति भी सजग किया जाएंगा। उन्होंने कहा कि अब हरियाणा में किसी भी ग्राम सभा के दस फीसदी लोगों द्वारा पारित प्रस्ताव के आधार पर गांवों से शराब के ठेके हटाए जायेंगे। महाराष्ट् में मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस द्वारा इस्तीफा देने के बारे में मनोहर लाल ने कहा कि एनसीपी नेता अजीत पवार द्वारा समर्थन देने पर राज्यपाल ने उन्हें मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई थी। लेकिन अजीत पवार के ही इस्तीफा देने पर फडनवीस ने भी इस्तीफा दे दिया।

Advertisements
Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

rohtak-gurnam-singh

अंबावता के प्रदेशाध्यक्ष का समर्थन मिलते ही गुरनाम सिंह चढूनी ने कर दिया बड़ा एलान – देखें

रोहतक (सनी ) : केंद्र सरकार के 3 कृषि अध्यादेशों के विरोध में 20 सितंबर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!