Home / Haryana / चाय वाले पर Bank की ऐसी मेहरबानी – जानें पूरा मामला

चाय वाले पर Bank की ऐसी मेहरबानी – जानें पूरा मामला

कुरुक्षेत्र (भारत साबरी)। कुरुक्षेत्र में चाय बेचनेवाला एक व्‍यक्ति एक फाइनेेंस कंपनी में 50 हजार रुपये का लाेन लेने पहुंचा। कंपनी ने लोन देने से मना कर दिया। खुलासा हुआ कि उसपर 50.76 करोड़ रुपये का लोन है।

Advertisements

रेहड़ी पर चाय वाले पर बेंकों का 50.76 करोड़ का लोन। आप सुनकर चौंक गए होंगे, लेकिन देश व विदेशों को गीता का संदेश देने वाली धर्मनगरी कुरुक्षेत्र में एक चाय वाले के साथ ऐसा हो गया। दरअसल उसने लॉकडाउन के दौरान करियाना व दूध वाले का कर्ज चुकाने के अलावा अपना चाय का काम फिर से शुरू करने के लिए 50 हजार रुपये के पर्सनल लोन के लिए एक फाइनेंस कंपनी में एप्लाई किया था। कंपनी ने लोन देने से मना करने के बाद इसका कारण पता करने पर मिली जानकारी ने इस व्‍यक्ति के होश उड़ गए। उस पर 50 करोड़ 76 लाख रुपये के बैंक लोन निकले।

 

कुरुक्षेत्र के दयालपुर गांव के राजकुमार ने 50 हजार का पर्सनल लोन एप्लाई किया था। दरअसल, फाइनेंस कंपनी ने उसको यह कहकर लोन देने से इन्कार कर दिया कि आपका सिबिल स्कोर ठीक नहीं है। उन्होंने इसकी डिटेल निकलवाई तो उनके नाम 50 करोड़ 76 लाख 20 हजार रुपये दिखाए गए। इनमें सबसे बड़ी राशि 50 करोड़ 50 लाख रुपये है। यह लोन 27 अप्रैल 2013 का दिखाया गया है। अब चाय वाला परेशान है।

Advertisements

 

फाइनेंस कंपनी ने उसका सिबिल रिकॉर्ड ठीक न होने की कहकर इन्कार कर दियाकुरुक्षेत्र से सटे गांव दयालपुर के राजकुमार ने बताया कि वह कुरुक्षेत्र के थानेसर शहर में आहुवालिया चौक पर चाय की रेहड़ी लगाता है। उसने लॉकडाउन में उसकी चाय की दुकान बंद रही थी। उसने घर चलाने के लिए करियाने और दूध की उधार की थी। अब अनलॉक-1 से चाय की रेहड़ी लगानी शुरू की, लेकिन चाय की मांग अपेक्षाकृत कम है। करियाना व दूध की उधार देनी थी। उसने जुलाई के पहले सप्ताह में रेलवे रोड कुरुक्षेत्र स्थित एक फाइनेंस कंपनी में 50 हजार रुपये के पर्सनल लोन के लिए एप्लाई किया था। 16 जुलाई को उसको फोन कर बताया कि आपका सिबिल स्कोर ठीक न होने पर लोन नहीं दिया जा सकता।

16 लोन उसकी सिबिल रिपोर्ट में दिखाए गए हैं, 50.50 करोड़ की मोटी राशि का लोन 2015 काराजकुमार ने बताया कि उसने अपना सिबिल रिकॉर्ड निकलवाया तो वह हैरान रह गया। उसके रिकॉर्ड में 16 लोन दिखाए गए हैं। इनमें 50.50 करोड़ का 27 अप्रैल 2013 का कॉमर्शियल व्हीकल लोन दिखाया गया है। कई लोन तो हर महीने दिखाए गए हैं। इसके अलावा किसान क्रेडिट, ऑटो व ट्रैक्टर लोन दिखाया गया है। उसकी सिबिल रिपोर्ट में 57 करोड़ 75 लाख 20 हजार रुपये के लोन दिखाए गए हैं।

 

पड़ोसी रजिंदर कहते हैं कि फेसबुक से उसे इस दास्तान का पता चला है और ईतना लोन बैंक किसी गरीब को क्या बहुत बड़े अमीर को भी नहीं दे सकता क्योंकि अब औपचारिकताए बहुत है वही राजेश सिंगला का कहना है कि यह गरीब व्यक्ति को तंग करने वाली बात है उधर बैंक अधिकारी कैमरे के सामने कुछ भी मुंह खोलने को तैयार नहीं हुए।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

chandermohan

पूर्व डिप्टी CM चंद्रमोहन ने कहा- यह पिपली नहीं, Panchkula है; किसान को हाथ भी लगा तो बाजू काट देंगे

पंचकूला (उमंग श्योराण)। केंद्र सरकार के कृषि अध्यादेश के खिलाफ विरोध बढ़ता ही जा रहा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!