Sunday , July 5 2020
Home / International / पाकिस्तान में पवित्र ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर पथराव की भारत ने की कड़े शब्दों में निंदा

पाकिस्तान में पवित्र ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर पथराव की भारत ने की कड़े शब्दों में निंदा

दिल्ली। ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर पथराव का भारत सरकार ने कड़े शब्दों में निंदा की है। विदेश मंत्रालय ने पाक सरकार से आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग भी की। उधर, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से गुरुद्वारे में फंसे श्रद्धालुओं को निकालने के लिए अपील की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि मैं अपील करता हूं कि पाक पीएम इस मामले में हस्तक्षेप करते हुए फंसे लोगों को सुरक्षित बाहर निकलवाने में मदद करें।

Advertisements

captain amrinder singh tweet
दरअसल, पाकिस्तान में सैकड़ों की भीड़ ने सिखों के सबसे पवित्र धर्मस्थलों में एक ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर पत्थरबाजी की थी। वहीं, विदेश मंत्रालय ने ननकाना साहिब पर हमले की कड़े शब्दों में निंदा की है। साथ ही पाकिस्तान सरकार से मांग की है कि वह इस मामले में तत्काल प्रभाव से कमद उठाए।

 

विदेश मंत्रालय ने इस घटना के सामने आने के बाद एक बयान जारी कर इसकी कड़े शब्दों में निंदा की है। साथ मंत्रालय ने पाकिस्तान सरकार से सिख श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए हर संभव कार्रवाई करने की अपील की है। एक अन्य ट्वीट में विदेश मंत्रालय ने कहा कि ननकाना साहिब में हुए उपद्रव की हम निंदा करते हैं। मंत्रालय ने कहा कि उन बदमाशों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए जो इस पवित्र गुरद्वारे में बेअदबी में शामिल हैं और जिन्होंने अल्पसंख्यक सिखों पर हमला किया है। मीडिया की खबरों के अनुसार गुरद्वारा ननकाना साहिब पर एक भीड़ ने हमला किया।

 

मिली जानकारी के अनुसार उपद्रवियों ने गुरुद्वारे के बाहर सिख विरोधी नारे भी लगाए। इससे पहले लोगों ने गुरुद्वारे पर पथराव भी किया था। पथराव में उस लड़के के परिवार ने भी हिस्सा लिया था जिनपर सिख लड़की को अगुवा करने का आरोप है।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

coronavirus

तेजी से फैल रहा कोरोना वायरस ,चीन ने 440 नए मामलों की पुष्टि की

चीनी स्वास्थ्य अधिकारियों ने बुधवार को घोषणा की कि उपन्यास कोरोनोवायरस (2019-nCoV) के कारण निमोनिया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *