Home / Chandigarh / हरियाणा विधानसभा के मानसून सत्र को लेकर स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता ने की बैठक,लिए गए अहम फैसले

हरियाणा विधानसभा के मानसून सत्र को लेकर स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता ने की बैठक,लिए गए अहम फैसले

हरियाणा विधानसभा (Haryana Vidhansabha)के मानसून सत्र की तैयारियों के मद्देनजर स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता (Gyanchand Gupta)ने सोमवार को अधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक में कई अहम फैसले लिए गए। विधानसभा सत्र 26 अगस्त से शुरू होने जा रहा है। ज्ञान चंद गुप्ता ने बताया कि सभी विधायक, मंत्री, मुख्यमंत्री या स्पीकर कोई भी हो, सभी का कोविड-19 (Covid-19)टेस्ट होगा।

Advertisements

विधानसभा सत्र से तीन दिन पहले टेस्ट कराना होगा और निगेटिव रिपोर्ट आने पर ही एंट्री मिलेगी। विधानसभा के पूरे स्टाफ, पुलिस का कर्मचारी हो, अधिकारी हो, पत्रकार हो। विधानसभा के अंदर एंट्री के लिए सभी को कोविड-19 का नेगेटिव सर्टिफिकेट लाना होगा। इस विषय पर स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज से बात हुई थी। टेस्ट के लिए स्पेशल कैंप लगाया जाएगा।

ज्ञान चंद गुप्ता (Gyanchand Gupta) ने बताया कि विधायक अपने-अपने जिलों में अपना टेस्ट करवाएंगे। सीटिंग अरेंजमेंट में सोशल डिस्टेंसिंग का अनुसरण होगा। दर्शक दीर्घा इस बार खत्म कर दी जाएगी। स्पीकर गैलरी में भी कोई दर्शक नहीं होगा। अधिकारियों को भी सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए जगह आवंटित की जाएगी।

Advertisements
  • सभी विधायक और अन्य कर्मचारियों को आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करनी होगी
  • सत्र के दौरान कम से कम कर्मचारी बुलाए जाएंगे
  • हर गेट पर सैनिटाइजर और शू रैप डिस्पेंसर भी लगाए जाएंगे
  • हरियाणा एमएलए होस्टल को 3 दिन पहले बंद करके सैनिटाइज किया जाएगा
  • सभी विधायकों को अकेले ही बिना किसी सहयोगी के सत्र में आना होगा
  • मंत्री सिर्फ जरूरी होने पर प्राइवेट सचिव को ला सकते हैं
  • विधानसभा में कोई भी चाइनीज समान नहीं ख़रीदा जाएगा. सिर्फ स्वदेशी समान ही ख़रीदा जाएगा.

ज्ञान चंद गुप्ता ने बताया कि विधानसभा की तैयारियों को लेकर आगामी 2 दिनों में तीन बैठकें होंगी, जिनमें सुरक्षा अरेंजमेंट, पार्किंग व्यवस्था की समीक्षा होगी। एक बैठक हेल्थ डिपार्टमेंट के डीजी और अधिकारियों के साथ होगी। एक बैठक पब्लिक रिलेशन डिपार्टमेंट के साथ होगी जिसमें मीडिया की व्यवस्था पर चर्चा की जाएगी।

हमारा मकसद सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन रखना है। विधानसभा के एंट्री पॉइंट पर सैनिटाइजर और शू रैप डिस्पेंसर होंगे। सभी विभागों से निवेदन करेंगे कि उनके कम से कम कर्मचारी विधानसभा में आएं। एमएलए हॉस्टल को सत्र से तीन दिन पहले बंद करके सैनिटाइज किया जाएगा।

ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि विधानसभा परिसर के अंदर सभी अकेले आएं। मंत्री भी उसी निजी स्टाफ को लेकर आए जिस की ज्यादा जरूरत है। विधानसभा परिसर के अंदर विपक्ष को किसी तरह के प्रोटेस्ट की परमिशन नहीं होगी। विधानसभा परिसर के बाहर प्रोटेस्ट कर सकते हैं। विधानसभा सदन के अंदर कानून की मर्यादा नियम का पालन करना , वह सभी का कर्तव्य है। मुझे पूरी उम्मीद है कि सदन के अंदर शांतिपूर्ण ढंग से अच्छे ढंग से अच्छी चर्चा के साथ चलेगा।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

punjab-cm-amrinder-singh

कृषि अध्यादेश मामला : किसानों को CM अमरिंदर की दो टूक, कहा – विरोध करना है तो दिल्ली जाकर करें, हम किसानों के साथ है

चंडीगढ़। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की अध्यक्षता में पंजाब कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल वीपी …

error: Content is protected !!