Breaking News
Home / Chandigarh / एसजीपीसी ने कहा राजोआना की फांसी को आजीवन कारावास में न बदले जाने के शाह के बयान ने आहत किया

एसजीपीसी ने कहा राजोआना की फांसी को आजीवन कारावास में न बदले जाने के शाह के बयान ने आहत किया

चंडीगढ,3दिसम्बर। शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबन्धक कमेटी ने बलवन्त सिंह राजोआना की फांसी की सजा को आजीवन कारावास में न बदले जाने के केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह के बयान को सिख भावनाओं को आहत करने वाला बताया है।

Advertisements

कमेटी के अध्यक्ष गोविन्द सिंह लोंगोवाल ने मंगलवार को यहां मीडिया से बातचीत में कहा कि पिछले समय जिन कैदियों की सजा माफी की सूची केन्द्र सरकार द्वारा जारी की गई थी उसमें राजोआना का नाम था। उन्होंने कहा कि अब अमित शाह का बदला हुआ बयान दुर्भाग्यपूर्ण और सिख भावनाओं को आहत करने वाला है।

 

लोगोवाल ने कहा कि राजोआना की फांसी की सजा आजीवन कारावास में बदले जाने की मांग को लेकर कमेटी का प्रतिनिधिमंडल जल्दी ही प्रधानमंत्री एवं केन्द्रीय गृृहमंत्री से मिलेगा। पूछे जाने उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर अकाली दल को एनडीए से बाहर आने का सवाल राजनीतिक है और इस बारे में अकाली दल ही कोई फैसला कर सकता है। एसजीपीसी तो एक धार्मिक संस्था है और वह सजा को बदलने की मांग कर रही है। उन्होंने कहा कि मौजूदा पंजाब सरकार ने कैदियों की रिहाई के लिए जो सूची केन्द्र सरकार को भेजी थी उसमें राजोआना का नाम नहीं था।

Advertisements

 

उल्लेखनीय है कि 28 मार्च 2012 को एसजीपीसी की याचिका पर ही केन्द्रीय गृहमंत्रालय ने राजोआना की फांसी पर रोक लगाई थी। उधर हाल में राजोआना की फांसी की सजा आजीवन कारावास में बदले जाने की रिपोर्ट मीडिया में आने पर पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के परिजनों ने सुप्रीम कोर्ट में अपील करने की बात कही थी।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

sukhdev-singh-dhindsa-punja

सुखदेव ढींढसा का ऐलान,कहा – 25 सितंबर को किसानों के साथ देंगे धरना

चंडीगढ़। शिरोमणि अकाली दल डेमोक्रेटिक के अध्यक्ष व सांसद सुखदेव ढींढसा ने आज एक बैठक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!