Thursday , July 2 2020
Home / Punjab / गुरूद्वारा ननकाना साहिब पर हमले के बाद हालत का जायजा लेने SGPC की टोली पाकिस्तान जायेगी

गुरूद्वारा ननकाना साहिब पर हमले के बाद हालत का जायजा लेने SGPC की टोली पाकिस्तान जायेगी

चंडीगढ,4जनवरी। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में स्थित सिख पंथ के संस्थापक गुरूनानक देव की जन्मस्थली गुरूद्वारा ननकाना साहिब पर हमले की घटना के बाद हालत का जायजा लेने शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबन्धक कमेटी का प्रतिनिधिमंडल पाकिस्तान का दौरा करेगा। कमेटी ने इस घटना को संयुक्त राष्ट्र में उठाने का फैसला किया है।

Advertisements

कमेटी के अध्यक्ष गोविन्द सिंह लोंगोवाल ने गुरूद्वारा ननकाना साहिब पर हमले की घटना की कडी निंदा करते हुए शनिवार को पाकिस्तान सरकार से अपील की कि वह दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। लोंगोवाल ने कहा कि हम पाकिस्तान सरकार से हमले के दोषियों के खिलाफ कडी कार्रवाई की मांग करते हुए अपील करते हैं कि वहां रहने वाले सिखों की पूरी हिफाजत की जाए।

 

उन्होंने कहा कि ऐतिहासिक गुरूद्वारे पर हमले के बाद हम हालत का जायजा लेने के लिए चार सदस्यों का एक प्रतिनिधिमंडल वहां भेजेंगे। प्रतिनिधिमंडल ननकाना साहिब के सिख परिवारों से मिलेगा और पंजाब के राज्यपाल व मुख्यमंत्री से भी मुलाकात करेगा। प्रतिनिधिमंडल में राजिंदर सिंह मेहता,रूप सिंह,सुरजीत सिंह और राजिंदर सिंह शामिल किए जायेंगे। हमने गुरूद्वारा ननकाना साहिब प्रबन्धक कमेटी से बातचीत की है और कमेटी ने बताया है कि अब हालत सामान्य है। उन्होंने कहा कि हमले की घटना से सिख समुदाय की भावनाएं आहत हुई है। लोंगोवाल ने कहा कि इस मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र में भी उठाया जाएगा।

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने भी गुरूद्वारे पर हमले की घटना की निंदा की है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार से शांति ओर सौहार्द बनाए रखने के लिए तुरन्त कदम उठाने की अपील की गई है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह और शिरोमणि अकाली दल ने भी गुरूद्वारे पर हमले की घटना पर चिंता वयक्त की थी।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

ajgar-video

अजगर ने हिरन के बच्चे को जकड़ा, वाइल्ड लाइफ की टीम ने ऐसे छुड़वाया – देखें वीडियो

होशियारपुर। कस्बा हरियाना के जंगल में एक हिरन के बच्चे को 10 फुट के अजगर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!