Singhu Border Murder Case: हत्या मामले में दूसरे आरोपी नारायण सिंह ने अमृतसर पहुंचकर किया सरेंडर,कहा- सरबजीत के साथ मैं भी कसूरवार

0
206

सिंघु बॉर्डर पर तरनतारन के गांव चीमा के रहने वाले लखबीर सिंह की हत्या का विवाद गर्माता जा रहा है। इस घटना के 15 घंटे बाद शुक्रवार शाम को निहंग सरबजीत सिंह ने सरेंडर किया था। सिंघु बॉर्डर पर लखबीर सिंह की हत्या के मामले में दूसरे आरोपी नारायण सिंह ने भी पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है। बताया जा रहा है कि बॉर्डर पर युवक की बेरहमी से हत्या के बाद निहंग नारायण सिंह वापस अपने गांव लौट गया था। खबर के मुताबिक युवक की नृशंष हत्या के बाद इस काम के लिए उसे खूब बाहवाही मिली थी। उसे निहंगों के डेरे पर सम्मानित भी किया गया था।

 

सिंघु बॉर्डर पर हत्या मामले में दूसरे आरोपी निहंग नारायण सिंह ने सरबजीत की तरह ही पुलिस के सामने खुद सरेंडर किया है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार नहीं किया था। सरेंडर के बाद अब वह पुलिस की गिरफ्त में है। सरेंडर करने से पहले उसे निहंगों ने अपने डेरे पर सम्मानित किया था। बता दें कि शुक्रवार को आरोपी सरबजीत ने भी पुलिस के सामन सरेंडर कर दिया था। आज उसे सोनीपत पुलिस ने कोर्ट में पेश किया था। जहां से उसे 7 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है।

 

अमृतसर में हिरासत में लिए गए निहंग नारायण सिंह ने कहा, ‘लखबीर सिंह ने गुरु का अपमान किया था, इसलिए उन्होंने जो किया, ठीक किया। अगर सरबजीत सिंह कसूरवार है, तो मैं भी कसूरवार हूं। मैंने भी सरबजीत सिंह का उतना ही सहयोग किया है। 2014 से गुरुओं का अपमान हो रहा है। गुरु ग्रंथ साहिब के अपमान की कितनी घटनाएं सामने आईं, लेकिन पुलिस ने सहयोग नहीं दिया। एक भी आरोपी पर कार्रवाई नहीं की गई। इस घटना में आरोपी को सरेआम पकड़ लिया गया और उस समय जो ठीक लगा, निहंग जत्थेबंदियों ने वही किया। ऐसे में मैं भी उतना ही कसूरवार हूं, जितना सरबजीत।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here