कैप्टन अमरिंदर सिंह का चैलेंज, कहा- मेरे खिलाफ चयन लडऩे के लिए आजाद नवजोत सिद्धू, जब्त हो जाएगी जमानत

0
164
captain-amrinder-singh-chal

चंडीगढ़, 27 अप्रैल: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने मंगलवार को यह स्पष्ट कर दिया कि पार्टी में अनुशासहीनता को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जायेगा और यह भी कहा कि यदि नवजोत सिंह सिद्धू उनके खिलाफ चयन लडऩा चाहता है तो वह आजाद है परन्तु उसका हाल भी जनरल जे.जे. सिंह जैसा होगा जिसकी जमानत तक जब्त हो गई थी।

 

एक चैनल को इंटरव्यू के दौरान मुख्यमंत्री ने नवजोत सिंह सिद्धू को चुनौती दी कि वह यह स्पष्ट करे कि वह कांग्रेस पार्टी का मैंबर है या नहीं। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा, ‘अगर है तो उसका लगातार मुख्यमंत्री और सरकार के खिलाफ बोलना आचार संहिता के उल्लंघन के समान है।’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस के बागी को यह तय कर लेना चाहिए कि वह किस तरफ है क्योंकि कांग्रेस में वह पार्टी के अनुशासन को तोड़ रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा उसे वापस नहीं लेगी और जहाँ तक अकाली दल की बात है, वह भी उससे रूठ चुके हैं।

Also Read: PPE Kit पहनकर शख्श ने बारात में लगाए जमकर ठुमके | VIDEO हुआ वायरल

पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रधान सुनील जाखड़ की सराहना करते हुये मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि वह अपना काम बहुत बढिय़ा कर रहे हैं और अपनी जिम्मेदारियां भी बखूबी निभा रहे हैं, इसलिए सिद्धू को जाखड़ की जगह नियुक्त करने का सवाल ही पैदा नहीं होता। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा, ‘सिर्फ चार साल ही हुए जब सिद्धू कांग्रेस में शामिल हुआ और यहाँ कई ऐसे नेता हैं जिन्होंने अपना राजनैतिक कॅरियर यूथ कांग्रेस से शुरू किया और वह उससे कहीं ज्यादा सीनियर हैं, इस कारण उसे उप-मुख्यमंत्री या प्रदेश कांग्रेस प्रधान का पद कैसे दिया जा सकता।’

 

कैबिनेट मंत्री सुखजिन्दर सिंह रंधावा और सुनील जाखड़ की तरफ से इस्तीफे देने के मुद्दे पर मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने इसको रद्द कर दिया है। हाई कोर्ट की तरफ से हाल ही में कोटकपूरा गोलीकांड की जांच कर रही एस.आई.टी. को खारिज देने का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि नयी एस.आई.टी. की मंजूरी दे दी गई है जो मामले को कानूनी निष्कर्ष पर ले जायेगी।

 

हालाँकि, उन्होंने कहा कि अदालत का फैसला इसके दायरे से बाहर चला गया और यह न्यायिक नहीं बल्कि एक राजनैतिक निर्णय है। केस में देरी के मुद्दे पर कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने स्पष्ट किया कि हाई कोर्ट के हाल ही में आए फैसले में बेअदबी के मामलों से कोई सम्बन्ध नहीं है और यह फैसला कोटकपूरा गोलीकांड से सम्बन्धित है। बेअदबी केस चल रहे हैं और इनमें कई गिरफ्तारियां हो चुकी हैं। उन्होंने आगे कहा कि यह पिछली अकाली सरकार थी जिसने केस सी.बी.आई. को केस सौंप दिए थे और मौजूदा कांग्रेस सरकार ने केस की फाइलें वापिस लेने के लिए सुप्रीम कोर्ट तक पहुँच की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here