Home / Uttrapradesh -Bihar / सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ हुआ विरोध प्रदर्शन

सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ हुआ विरोध प्रदर्शन

बलिया/यूपी(संजय कुमार तिवारी) ।सरकार की गलत नीतियों और और दोहरे चरित्र के खिलाफ भागीदारी संकल्प मोर्चा के आवाहन पर मंगलवार को प्रदेश स्तरीय विरोध प्रदर्शन दर्ज कराया गया जिसमें उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में कार्यकर्ताओं और नेताओं ने गांव में जाकर के काली पट्टी बांधकर सोशल में डिस्टेंस को मेंटेन करते हुए सरकार के दोहरे चरित्र एवं जन विरोधी नीतियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी युवा मोर्चा के प्रदेश महासचिव जावेद अंसारी जाम के नेतृत्व में किया गया। रसड़ा क्षेत्र के विभिन्न ग्राम सभा सहित जाम, बसनही, खरसड़ा, अठीलापुरा, सुल्तानपुर, परसिया में स्थानीय ग्राम सभा के जनता के साथ धरना दिया गया।

Advertisements

 

इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि आज पूरे देश में सरकार का दोहरा चरित्र साफ हो गया है। सरकार जहां एक तरफ सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास की बात करती है वहीं दूसरी तरफ गरीबों का साथ और अमीरों के विकास के थ्योरी पर काम कर रही है। जिसका जीवंत प्रमाण लाकडाउन के समय गरीब मजदूरों की दुर्दशा के रुप में पूरा देश ने देखा है। एक तरफ चाइना परोक्ष युद्ध करते हुए बॉर्डर पर हमारे सैनिकों को मार रहा है वहीं दूसरी तरफ केंद्र सरकार ने अभी तक भारतीय बाजार से चाइना को प्रतिबंधित नहीं किया है। अभी भी कई बड़ी चीनी कंपनियों को भारत में बड़े बड़े ठेके मिले हुए हैं। भाजपा के राज में उत्तर प्रदेश में आए दिन अतिपिछड़ों तथा दलितों के साथ जघन्य घटनाएं हो रही हैं। दर्जनों पिछड़ों, दलितों को मौत की नींद सुला दिया गया है। गरीबों के साथ गंभीर मारपीट के मामले हुए हो रहे हैं फिर भी सरकार मौन है। प्रशासनिक कार्रवाई के नाम पर उल्टे पीड़ित पक्ष को ही फंसा दिया जा रहा है। सुरक्षा कर्मी सुरक्षा बजाय भेदभाव सहित कार्य कर रहे हैं। सरकार में आए दिन बड़े- बड़े घोटाले सामने आ रहे हैं। अभी हाल ही में शिक्षक भर्ती, पशुपालन विभाग घोटाला तमाम उत्तर प्रदेश में बड़ा घोटाला सामने आया है जिसमें लगभग एक दर्जन लोगों पर मुकदमा कायम हुआ है। इसी तरह सरकार के लगभग पंचानवे विभाग आज घनघोर भ्रष्टाचार में लिप्त हैं।69000 सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा में आलम यह है कि प्रयागराज के टॉपर धर्मेंद्र कुमार पटेल जिनको 150 में से 142 नंबर मिला है उनको इस देश के राष्ट्रपति का नाम मालूम नहीं है।

 

वही अनामिका शुक्ला प्रकरण जहां चर्चा का विषय बना हुआ है। उसी प्रकार के कई और प्रकरण संज्ञान में आ रहे हैं। जहां कहीं अनामिका शुक्ला के नाम से तो कहीं ममता राय के नाम से तो कहीं प्रीति यादव के नाम से दर्जनों लोग फर्जी नौकरी कर रहे हैं। ये सभी कार्य सरकार की जीरो टॉलरेंस को झूठा साबित करने के लिये काफी है। कहा कि कानपुर के सरकारी बाल संरक्षण गृह में एक सनसनीखेज खुलासा हुआ है जिसमें 57 लड़कियां कोरोना पाजिटिव पाई गई हैं। उसमें दो नाबालिग लड़कियां प्रेग्नेंट हैं तथा एड्स की भी पेसेंट पाई गई है। प्रश्न किया कि क्या यह है सरकार की बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ का असली सच।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

balia-news

UP: बलिया में ‘कस्टडी में टॉर्चर’ की घटना को लेकर स्थानीय लोगों ने पुलिस पर किया पथराव

बलिया (संजय कुमार तिवारी) । बलिया जनपद के रसड़ा काेतवाली थाना क्षेत्र के दक्षिणी चाैकी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!