Home / Crime / 25000 रूपये को ईनामी मोस्ट वांटेड अपराधी व उसका साथी मुठभेड़ के बाद काबू

25000 रूपये को ईनामी मोस्ट वांटेड अपराधी व उसका साथी मुठभेड़ के बाद काबू

चण्डीगढ़, 17 अगस्त – हरियाणा पुलिस ने एक अहम कार्रवाई करते हुए सोनीपत जिले में मुठभेड़ के बाद 25000 रूपये को ईनामी मोस्ट वांटेड अपराधी को उसके साथी सहित गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पुलिस ने उनके कब्जे से दो अवैध देसी पिस्तौल और पांच कारतूस भी बरामद किए हैं।

Advertisements

हरियाणा पुलिस के प्रवक्ता ने आज यहां जानकारी देते हुए बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ हत्या, हत्या के प्रयास, लूट, वाहन छीनने और आम्र्स एक्ट से जुड़े करीब एक दर्जन मामलों का खुलाया हुआ है। सीआईए की एक टीम ने मुखबिर से मिली गुप्त सूचना के बाद मोस्ट वांटेड अपराधी को उसके साथी सहित काबू किया है।

प्रवक्ता ने कहा कि गाँव ककरोई के पास नियमित गश्त के दौरान सीआईए की एक टीम को एक गुप्त सूचना मिली कि एक मोस्ट वांटेड अपराधी बदमाश बिट्टू उर्फ कालू अपने साथी के साथ अवैध हथियारों सहित दिल्ली नंबर के मोटरसाइकिल पर किसी अन्य आपराधिक घटना को अंजाम देने की फिराक में घूम रहे हैं। सूचना मिलने के तुरंत बाद, टीम तुरंत कार्रवाई में जुट गई और दोनों को पकड़ने की कोशिश की। लेकिन दोनों बदमाशों ने पुलिस टीम पर जान से मारने की नियत से फायर किया और जवाबी कार्रवाई में एक घायल हो गया। जिसके बाद दोनों को काबू कर लिया गया।

Advertisements

घायल व्यक्ति की पहचान जिला सोनीपत बरोना निवासी मोस्ट वांटेड बिट्टू उर्फ कालू के रूप में हुई। उस पर 25000 रुपये का इनाम था और उसके खिलाफ हरियाणा और दिल्ली में नौ आपराधिक मामले दर्ज हैं। साथी की पहचान उत्तर प्रदेश के जिला मुजफ्फरनगर के मूल निवासी अकील उर्फ छोटा के रूप में हुई। उसके खिलाफ भी दो मामले दर्ज हैं।दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा। इस मामले की आगे की जांच चल रही है।

 

उल्लेखनीय है कि डीजीपी हरियाणा श्री मनोज यादव के निर्देशों के अनुसार, पूरे राज्य में मोस्ट वांटेड और ईनामी बदमाशों को काबू करने के लिए एक विशेष अभियान चलाया जा रहा है।

 

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

chandermohan

पूर्व डिप्टी CM चंद्रमोहन ने कहा- यह पिपली नहीं, Panchkula है; किसान को हाथ भी लगा तो बाजू काट देंगे

पंचकूला (उमंग श्योराण)। केंद्र सरकार के कृषि अध्यादेश के खिलाफ विरोध बढ़ता ही जा रहा …

error: Content is protected !!