Home / National / मिलिये 81 वर्षीय उर्मिला चतुर्वेदी से,राम मंदिर के इंतजार में 28 साल से नहीं खाया अन्‍न

मिलिये 81 वर्षीय उर्मिला चतुर्वेदी से,राम मंदिर के इंतजार में 28 साल से नहीं खाया अन्‍न

मध्यप्रदेश के जबलपुर में रहने वालीं 81 वर्षीय उर्मिला चतुर्वेदी का 5 अगस्त को वह संकल्प पूरा होने जा रहा है, जिसकी वजह से उन्होंने 28 सालों से अन्न ग्रहण नहीं किया। साल 1992 में जब अयोध्या में विवादित ढांचा ढहाया गया था, तब उन्होंने संकल्प लिया था कि राम मंदिर का निर्माण शुरू होने पर ही अन्न ग्रहण करेंगी।

Advertisements

बुजुर्ग उर्मिला बताती हैं कि अयोध्या में विवादित ढांचा ढहाए जाने के बाद भड़की हिंसा से वह बहुत दुखी थीं और उन्होंने संकल्प लिया था कि जिस दिन सभी की सहमति से राम मंदिर का निर्माण शुरू होगा, उसके बाद ही अन्न ग्रहण करेंगीं। 6 दिसंबर, 1992 के बाद से वे लगातार फलाहार ले रही हैं और उनका ज्यादातर समय रामायण का पाठ करने और माला जपने में गुजरता रहा है।

उर्मिला देवी उस दिन से खुश हैं, जिस दिन सुप्रीम कोर्ट ने मंदिर के पक्ष में फैसला सुनाया था। उन्होंने फैसला सुनाने वाले सुप्रीम कोर्ट के जजों और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भेजकर बधाई दी थी। उर्मिला चतुर्वेदी ने जब व्रत शुरू किया था, तब उनकी उम्र 53 साल थी। पहले लोगों ने उन्हें बहुत समझाया कि व्रत तोड़ दें, लेकिन वे इस पर डटी रहीं।

उर्मिला चतुर्वेदी का कहना है कि वे अयोध्या जाकर रामलला के दर्शन करने के बाद ही अन्न ग्रहण करने की इच्छा रखती हैं। उनके लिए राम मंदिर का निर्माण पुर्नजन्म जैसा है। जबलपुर की उर्मिला के 28 सालों तक अन्न ग्रहण न करने की जानकारी मिलने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रामस्तुति ट्वीट की, “श्री रामचंद्र कृपालु भजुमन हरण भवभय दारुणं. नव कंज लोचन कंज मुख कर कंज पद कंजारुणं.”

उन्होंने आगे लिखा है, “प्रभु श्रीराम कभी भक्तों को निराश नहीं करते हैं, फिर चाहे वह त्रेतायुग की शबरी माता हों या आज की मैया उर्मिला! माता, धन्य है आपकी श्रद्धा! यह पूरा भारत आपको नमन करता है! जय सियाराम!”

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

chandigrah corona breaking

देश में कोविड-19 के मामले 46 लाख से पार

देश में कोविड-19 के 97,570 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद कुल संक्रमितों की …

error: Content is protected !!