Breaking News
Home / Haryana / केंद्र के अध्यादेश के खिलाफ हरियाणा में किसानों की विशाल रैली,पुलिस का लाठीचार्ज

केंद्र के अध्यादेश के खिलाफ हरियाणा में किसानों की विशाल रैली,पुलिस का लाठीचार्ज

कुरुक्षेत्र। पिपली अनाजमंडी में भारतीय किसान यूनियन की रैली में पहुंचने से पहले किसानों को पिपली चौक पर रोक लिया गया। उन्‍हें वापस जाने को कहा, लेकिन वे नहीं मानें। आगे बढ़ने पर पुलिस ने हल्‍का लाठीचार्ज करके लोगों को खदेड़ा। इसके बाद कुछ लोगों को हिरासत में भी ले लिया।

Advertisements

 

किसानों ने पुलिस के ढीला पड़ते ही पिपली चौक को छोड़कर जीटी रोड पर दूसरी तरफ जाम लगा दिया। पुलिस पिपली चौक पर उलझी रही। लाठीचार्ज के बाद वापस गए किसानों ने जीटी रोड पर जाम लगा दिया। किसान बचाओ-मंडी बचाओ रैली में पहुंचे किसान पुलिस लाठीचार्ज पर उग्र हो गए। पिपली चौक पर कुछ किसानों ने पुलिस पर पत्थर फेंक दिए और जीटी रोड पर जाम लगा दिया।

 

इधर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व मंत्री अशोक अरोड़ा और लाडवा से कांग्रेस के विधायक मेवा सिंह अनाज मंडी गेट पर पहुंचे। दोनों गाड़ी में पहुंचे थे। करनाल की तरफ से पांच-छह ट्रालियों में पहुंचे किसान ईंट रोड़े लेकर पहुंचे थे। पुलिस ने बल प्रयोग करना चाहा तो किसानों ने पुलिस पर लाठीचार्ज करने पर पथराव शुरू कर दिया।

Advertisements

किसानों के अड़ने पर प्रशासन झुका और आखिर में पिपली अनाज मंडी में रैली करने की परमिशन दी। किसानों ने परमिशन मिलते ही रैली स्थल पर पहुंचना शुरू कर दिया। भाकियू के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी रैली स्थल पर पहुंचे। उन्होंने किसानों का आभार व्यक्त किया और तीनों अध्यादेशों को किसान व मंडी विरोधी बताया।

गुरुनाम सिंह ने कहा कि सरकार किसानों की आवाज दबाना चाहती है। भाजपा ने चुनाव के समय स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करने की कही थी, लेकिन सरकार अपना वायदा भूल गई है। अब लॉकडाउन के बीच केंद्र की भाजपा सरकार तीन अध्यादेश लेकर आई है। ये तीनों अध्यादेश किसान और मंडी को खत्म करने वाले हैं।

 

कुरुक्षेत्र में किसानों पर हुए लाठीचार्ज पर विपक्ष ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। कांग्रेस के राष्ट्रीय रणदीप सुरजेवाला के बाद अब कांग्रेस नेता किरण चौधरी ने भी लाठीचार्ज की निंदा की है। उन्होंने किसानों को रोकने के लिए पुलिस द्वारा किए गए लाठीचार्ज को कायराना हरकत करार दिया और किसानों की आवाज को लाठियों से दबाने को लोकतंत्र की हत्या बताया।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

jhajjar-safayi-karmi

सफाई कर्मियों ने भी खट्टर सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

झज्जर (सुमित कुमार) । अन्य कर्मचारियों की तरह अब पालिका के सफाई कर्मियों ने भी …

error: Content is protected !!