Home / Chandigarh / बच्चों को किगडम ऑफ ड्रीम्स दिखाने की चाहत बाल महोत्सव को गुरूग्राम तक ले गई

बच्चों को किगडम ऑफ ड्रीम्स दिखाने की चाहत बाल महोत्सव को गुरूग्राम तक ले गई

पांच दिन के महोत्सव का 19 को उपमुख्यमंत्री दुष्यंत करेंगे आगाज

Advertisements

चंडीगढ,16दिसम्बर। हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद के महासचिव कृृष्ण ढुल इस साल दूसरी बार बाल महोत्सव का आयोजन करने जा रहे है। पिछले साल पहला महोत्सव रोहतक में आयोजित किया गया था। इस बार महोत्सव का आयोजन गुरूग्राम में किए जाने का कारण ढुल यह बताते है कि वे प्रदेश के आम परिवारों के बच्चों को किंगडम ऑफ ड्रीम्स दिखाना चाहते है। उनकी यही चाहत बाल महोत्सव को गुरूग्राम ले गई। महोत्सव का आगाज 19दिसम्बर को सूबे के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला करेंगे और 23 दिसम्बर को इसका समापन राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य करेंगे।

 

हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद के अध्यक्ष राज्यपाल है और उपाध्यक्ष मुख्यमंत्री है। ढुल इस परिषद के मनोनीत महासचिव है। ढुल ने इस परिषद को अपने प्रयासों से खासा सक्रिय किया है। बच्चों के विकास के लिए आयोजनों को उन्होंने गतिशील बनाया है। ढुल ने लगातार दूसरे बाल महोत्सव के आयोजन पर यहां मीडिया से बातचीत की और बताया कि परम्परागत रूप से बाल दिवस का आयोजन 14 नवम्बर को समूचे देश में किया जाता है। उनके सोच में यह बात आई कि क्यों न बच्चों के विकास को बढाने के लिए बाल महोत्सव का आयोजन किया जाए। इस विचार के तहत पिछले साल पहला बाल महोत्सव आयोजित किया गया। इसमें करीब ढाई लाख बच्चे समूचे प्रदेश से पहुंचे थे। इस बार दूसरे बाल महोत्सव में करीब एक लाख बच्चों के पहुंचने की उम्मीद है।

Advertisements

 

ढुल ने बताया कि सामान्य रूप से गुरूग्राम स्थित किगडम ऑफ ड्रीम्स को देखने के लिए कम से कम छह सौ रूपए की फीस देनी पडती है। लेकिन बाल महोत्सव के आयोजन के लिए यह निशुल्क उपलब्ध है। महोत्सव में पहुंचने वाले बच्चे किंगडम ऑफ ड्रीम्स को देख सकेंगे। इसी विचार से वे महोत्सव को गुरूग्राम तक ले गए। महोत्सव में पहुंचने के लिए जिला बाल कल्याण अधिकारी के बतौर उपायुक्त निशुल्क परिवहन की व्यवस्था करेंगे। जिला स्तर पर पहले आयोजित की गई विभिन्न कला व सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं के विजेता सीनियर सेकंडरी कक्षाओं तक के बच्चे बाल महोत्सव में फाइनल मुकाबलों के लिए पहुंचेंगे। इन बच्चों के निशुल्क आवास एवं भोजन की व्यवस्था भी की गई है। पांच दिन के महोत्सव में बच्चे लोकनृत्य और लोकगीतों का भी आनन्द लेंगे। उन्हें खेल हस्तियों से मिलने का मौका भी मिलेगा।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

panipata

पानीपत में नहीं दिखा भारत बंद का असर,सुनिए क्या बोले किसान व् आढ़ती

पानीपत (प्रवीण भारद्वाज) : पानीपत में भी देश के साथ भारतीय किसान यूनियन ने किया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!