Home / Haryana / करनाल में भारतीय किसान यूनियन ने सरकार को दी चेतावनी

करनाल में भारतीय किसान यूनियन ने सरकार को दी चेतावनी

करनाल/इंद्री (मैनपाल कश्यप) ।भारतीय किसान यूनियन की एक बैठक इंद्री स्थित किसान भवन में हुई इस बैठक में पराली जलाने पर किसानों को गिरफ्तार करने और गन्ने का रेट ना बढ़ाने सरकार की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की और सरकार को चेतावनी दी यदि सरकार ने किसान विरोधी नीतियों को तुरंत वापस नहीं लिया तो किसान 1 जनवरी से करनाल में पुरे प्रदेश के किसान जेल भरो आंदोलन शुरू कर देंगे। इस बैठक में क्षेत्र के किसानों ने किसानों की समस्याओं पर विचार विमर्श किया।

Advertisements

 

करनाल नगर निगम ऑफिस पर गृह मंत्री अनिल विज का मारा छापा,कहा -अब काम का रवैया बदल दो

भारतीय किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष यशपाल राणा ने कहा की सरकार ने किसानों की भलाई की नीतियां लागू करने के बजाए किसान विरोधी कार्य चलाये हुए है किसानों पर सरकार ने पराली जलाने से पर्यावरण प्रदूषित होने के इल्जाम लगाकर उनके खिलाफ केस दर्ज किए है इस मामले में किसानों को गिरफ्तार किया जा रहा है जो गलत है किसान नेताओं ने कहा कि पर्यावरण प्रदूषण पराली जलाने से कम मात्रा में होता है जबकि निर्माण कार्यों व उद्योग धंधों से निकल रहे जहरीले धूल व् धूवे के कारण अधिक हो रहा है सरकार किसानों की पराली की व्यवस्था करने के बजाए किसानों पर बेतुके आरोप लगाकर उन्हें बदनाम कर रही है।

Advertisements

पंचकूला में फार्म हाउस में घुसा तेंदुआ,गावँ वासियों में दहशत का माहौल

भारतीय किसान यूनियन के जिला प्रवक्ता सुरेंदर ने कहा की हरियाणा में जगह जगह उद्योग धंधों द्वारा खतरनाक धुवे निकल रहे है , लेकिन सरकार उधोग मालिकों के खिलाफ कोई भी कार्रवाई नहीं कर रहे है उन्होंने ने कहा की सरकार किसानों पर पराली जलाने पर्यावरण प्रदूषण बढ़ने के आरोप लगाकर केस दर्ज कर रही है इतना ही नहीं किसानों को गिरफ्तार भी किया जा चुका है जिसका भारतीय किसान यूनियन विरोध करती है इस मामले में सरकार को चेतावनी भी दी गई है लेकिन सत्ता में बैठे नेताओं के कानों पर कोई जू नहीं रेंग रही किसान नेताओं ने कहा कि सरकार ने किसानों के गन्ने के भाव नहीं बढ़ाए हैं तथा अनाज मंडियों में किसानों की धान कम रेट पर खरीद कर किसानों के साथ अन्याय करवाया है किसान नेताओं ने कहा कि अधिकारी अपनी जेब भरने के लिए धान घोटाला करवा रहे हैं लेकिन सरकार आरोपी लोगों से ही इस मामले में जांच करवा कर सारे मामले पर लीपापोती करवा रही है किसान नेताओं ने चेतावनी दी है कि यदि सरकार ने किसानों की मांगों को 1 जनवरी तक पूरा नहीं किया तो किसान 1 जनवरी को करनाल में जेल भरो आंदोलन शुरू कर देंगे

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

jind-pipe

देखें ऐसा क्या हुआ जब जींद अनाज मंडी बजने लगे पीपे

जींद (रोहताश भोला) । हरियाणा के जींद जिले में आढ़तियों और किसानो ने मिलकर अनोखा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!