Home / Punjab / प्रगतिशील पंजाब निवेशक सम्मेलन शुरू,एम.एस.एम.ई को प्रमुख अंतरराष्ट्रीय बाजारों में पहुंचाने के लिए ऐमैजॉन और फलिपकार्ट के साथ समझौते पर हस्ताक्षर

प्रगतिशील पंजाब निवेशक सम्मेलन शुरू,एम.एस.एम.ई को प्रमुख अंतरराष्ट्रीय बाजारों में पहुंचाने के लिए ऐमैजॉन और फलिपकार्ट के साथ समझौते पर हस्ताक्षर

मोहाली ,5दिसम्बर। पंजाब सरकार ने वीरवार को मोहाली में शुरू किए गए प्रगतिशील पंजाब निवेशक सम्मेलन में संकल्प व्यक्त किया कि प्रदेश में छोटे और मझोले उद्योगों को बडे उद्योगों में बदलने का काम किया जाएगा। उद्योग और निवेश विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीमती विनी महाजन ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए यह भरोसा दिलाया।

Advertisements

 

श्रीमती महाजन ने कहा कि पंजाबं लघु, छोटे और मध्यम उद्योगों के विकास का केंद्र है। उन्होंने कहा कि इन उद्योगों के विकास के लिए कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली सरकार काम कर रही है। सम्मेलन के तहत ग्लोबल वैल्यू चेन में एम.एस.एम.ई सत्र को संबोधित करते हुए श्रीमती महाजन ने ईज टू डुईंग बिजनेस के लिए नई औद्योगिक नीति, उद्योगों को अनुदान के साथ 5 रुपए प्रति यूनिट बिजली, जी.एस.टी. और बिजली ड्यूटी पर रियायतें, जमीन का ऑनलाईन हस्तांतरण, ऑनलाईन जांच प्रणाली और वित्तीय सुविधाओं की भी जानकारी दी।

 

CM अमरिंदर की सुरक्षा में बड़ी चूक, इंटरव्यू के दौरान बीच मे युवक अचानक सामने आ धमका

उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार ने 700 एमएसएमई को 1100 करोड़ रुपए का कर्ज मुहैया करवाने के लिए एच.डी.एफ.सी. बैंक के साथ समझौता किया है। इस समझौते के तहत बैंक राज्य के सभी उद्योगों को कारोबारी कर्ज देने के लिए विशेष पेशकश कर रहा है।श्रीमती महाजन ने कहा कि पंजाब सरकार राज्य के फोकल प्वाइंटों के बुनियादी ढांचे का स्तर उठाने के लिए 200 करोड़ रुपए खर्च करेगी। उन्होंने कैबिनेट के फैसलों के तहत एम.एस.एम.ई के लिए व्यापारिक अधिकार की मंजूरी, औद्योगिक विवाद एक्ट में संशोधन, फैक्ट्री एक्ट और पंचायतों को शामलात जमीनों पर औद्योगिक पार्क बनाकर राज्य के औद्योगिक विकास में हिस्सेदार बनाने के कदमों का हवाला दिया।

 

नरसिम्‍हा राव अगर गुजराल की बात मान लेते तो दंगे रोके जा सकते थे – मनमोहन सिंह

इस मौके पर पंजाब के उद्योग और वाणिज्य मंत्री सुन्दर शाम अरोड़ा ने पंजाब आधारित एम.एस.एम.ई को नये बाजारों तक पहुँचने योग्य बनाने के लिए ऐमैजॉन और फलिपकार्ट जैसे प्रमुख ई-कॉमर्स दिग्गजों के साथ समझौतों पर हस्ताक्षर किये। अरोड़ा ने कहा कि राज्य सरकार ने ऐमैजॉन के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए है, जिससे अमरीका, कनाडा और यूरोप के मुख्य बाजारों के साथ जुड़ सकेंगे, जबकि सरकार ने एम.एस.एम.ई. को नये घरेलू बाजारों तक पहुँचाने योग्य बनाने के लिए फलिपकार्ट के साथ भी समझौता किया है। राज्य में हैंडलूम और छोटे उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए फलिपकार्ट से समझौता किया है।

 

एम.एस.एम.ई सत्र का संचालन के.पी.एम.जी. के उपमुख्य कार्यकारी. अखिल बांसल ने किया और इस सत्र में संधार टेक्नोलोजी के जयंत डावर, आई.टी.सी. से सचिद मदान, विश्व बैंक से भावना भाटिया, कैपिटल स्मॉल फाइनेंस बैंक से सर्वजीत सिंह समरा और यू.एन.आई.डी.ओ. से डा. रैन वैन बरकल ने हिस्सा लिया।सत्र के दौरान भाग लेने वालों ने पंजाब सरकार के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए कहा कि पंजाब में उन एम.एस.एम.ई को बढावा देने के लिए यह सही समय है, जो लाईट इंजीनियरिंग, बुने हुए कपड़े, कपड़े, खेल का सामान, फार्मेसी, ऑटोमोबाईल, हस्त यंत्र, चमड़ा उद्योग और अन्य क्षेत्रों में पांव पसार चुके हैं।

 

पैनल के सदस्यों ने पंजाब सरकार को उत्पादों की गुणवत्ता में और सुधार लाने और तकनीकी तौर पर समय का साथी बनने के लिए राज्य में खोज और विकास केंद्र विकसित करने की अपील की। उन्होंने कहा कि यह सम्मेलन एम.एस.एम.ई की पहचान के लिए एक बड़ा मील का पत्थर है और सरकार को एम.एस.एम.ई को उत्साहित करने के लिए ऐसे कदम जारी रखने चाहिए। उद्योग संवर्द्धन और आंतरिक व्यापार विभाग के सचिव डा. गुरू प्रसाद महापात्रा ने कहा कि एम.एस.एम.ई. क्षेत्र पंजाब के उद्योगों की रीढ़ है जो राज्य में कुल उत्पादन का लगभग 60 प्रतिशत और उद्योग में कुल रोजगार का 80 प्रतिशत हिस्सा है। सत्र की शुरुआत में हीरो साईकल के प्रबन्ध निदेशक पंकज मुंजाल ने अपने अनुभव बताए और पंजाब सरकार द्वारा उद्योगों को दिए जा रहे सहयोग की प्रशंसा की।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

cm punjab lockdon

उम्मीद करता हूँ कि हरियाणा के मुख्यमंत्री एस.वाई.एल. पर पंजाब का दृष्टिकोण देखेंगे जब हम जल्द ही मिलेंगे’ – कैप्टन

चंडीगढ़, 21 अगस्त: मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने शुक्रवार को यह उम्मीद अभिव्यक्त की कि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!