Breaking News
Home / Chandigarh / हरियाणा की राजनीति में दिलचस्प मोड,पति का दुष्यंत चौटाला को समर्थन पर पत्नी अभी कांग्रेस के साथ

हरियाणा की राजनीति में दिलचस्प मोड,पति का दुष्यंत चौटाला को समर्थन पर पत्नी अभी कांग्रेस के साथ

चंडीगढ,16अक्टूबर। हरियाणा की राजनीति में बुधवार को दिलचस्प मोड दर्ज किया गया। कांग्रेस में दरकिनार किए जाने के चलते पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने वाले हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर ने जहां जननायक जनता पार्टी के नेता व पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला को अपना समर्थन दिया वहीं उनकी पत्नी अवंतिका माकन तंवर ने कहा कि वे कांग्रेस का साथ नहीं छोडेंगी।

Advertisements

तंवर ने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद कहा था कि वे मौजूदा विधानसभा चुनाव में दलीय धारणा से मुक्त होकर अच्छी छवि वाले उम्मीदवारों को अपना समर्थन देंगे। अपने इस रूख पर आगे बढते हुए अशोक तंवर ने बुधवार को दिल्ली में दुष्यंत चौटाला को अपना समर्थन दिया। तंवर ने दुष्यंत को समर्थन देते हुए कहा कि समाज के सभी वर्गों को एक युवा एवं भ्रष्टाचार से मुक्त नेता को मुख्यमंत्री बनाना चाहिए। तंवर ने कहा कि कांग्रेस अब तीसरे और चौथे स्थान के लिए संघर्ष करेगी। वे कांग्रेस के भ्रष्ट व घमंडी नेताओं का पर्दाफाश करेंगे।

अशोक तंवर के इस रूख के विपरीत उनकी पत्नी अवंतिका माकन तंवर ने कहा कि उनका जन्म कांग्रेस में हुआ और वे अंतिम सांस तक कांग्रेस में ही रहेंगी। अपने माता-पिता को सिख उग्रवादियों द्वारा मार दिए जाने के बाद से ही अवंतिका कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के करीब रही है। उन्होंने कहा कि उनके लिए कांग्रेस का मतलब राजीव गांधी,सोनिया गांधी,प्रियंका गांधी और राहुल गांधी है। उन्होंने कहा कि हाल के घटनाक्रम से वे दुखी है। पत्नी के रूप में अशोक तंवर के साथ हूं लेकिन राजनीतिक रूप से मुझे तंवर के फैसले से कुछ लेना-देना नहीं है। सभी जानते हैं कि मेरे पति को कांग्रेस से निकाले जाने के लिए कौन जिम्मेदार है। गांधी परिवार इसके लिए दोषी नहीं है। वे कांग्रेस को वोट देंगी और पति के साथ प्रचार में नहीं जायेंगी।

Advertisements

About Hindxpress News

Check Also

अनिल विज ने कहा पद नही वरिष्ठता का है मायना, दिल्ली के प्रदूषण पर कहा केजरीवाल हैं भ्रमित

चंडीगढ,15नवम्बर। करीब बीस साल के अंतराल के बाद हरियाणा के गृृहमंत्री का पद संभालने के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Show Buttons
Hide Buttons