Breaking News
Home / Chandigarh / अगर सिद्धू काम नहीं करना चाहते, तो मैं कुछ नहीं कर सकता – अमरिंदर

अगर सिद्धू काम नहीं करना चाहते, तो मैं कुछ नहीं कर सकता – अमरिंदर

चंडीगढ,15जुलाई। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह को केबिनेट मंत्री पद से नवजोत सिद्धू का इस्तीफा मिल गया है। सिद्धू ने रविवार को ट््वीट में बताया था कि वे मंत्री पद से अपना इस्तीफा मुख्यमंत्री को भेजने वाले है।

Advertisements

अमरिंदर सिंह ने सोमवार को कहा कि उन्हें मंत्री पद से नवजोत सिद्धू का इस्तीफा मिल गया है। वे पढनें के बाद इस्तीफे पर फैसला करेंगे। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि नवजोत सिद्धू के साथ उनका कोई झगडा नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि यदि सिद्धू काम नहीं करना चाहते तो वे कुछ नहीं कर सकते है। उन्होंने कहा कि सरकार के कामकाज को प्रभावी बनाए रखने के लिए अनुशासन भी जरूरी है।

नवजोत सिद्धू ने पिछले जून माह के पहले सप्ताह में केबिनेट के सदस्यों के विभागों के फेरबदल में अपना विभाग बदले जाने के विरोध में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के सामने अपना पक्ष रखा था और पिछले 10 जून को मंत्री पद से अपना इस्तीफा भी राहुल गांधी को सौंप दिया था। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने लोकसभा चुनाव में पंजाब के शहरी क्षेत्रों में कांग्रेस की हार के लिए सिद्धू द्वारा संभाले जा रहे शहरी निकाय विभाग के कमजोर प्रदर्शन को जिम्मेदार मानते हुए सिद्धू को विभाग बदल कर उर्जा विभाग दिया था। इस बदलाव पर सिद्धू ने कडा ऐतराज जताया था। सिद्धू ने आंकडों के जरिए यह बताने का प्रयास किया था कि उनके विभाग का प्रदर्शन बेहतर रहा और ज्यादातर शहरी क्षेत्रों में कांग्रेस की जीत हुई।

राहुल गांधी तक अपनी शिकायत पहुंचाए जाने पर राहुल ने अहमद पटेल को अमरिंदर सिंह और नवजोत सिद्धू का विवाद निपटाने का जिम्मा सौंपा था लेकिन अमरिंदर सिंह ने अहमद पटेल को कह दिया था कि सिद्धू को लेकर उनका रूख नहीं बदलेगा और मंत्रियों के विभाग बदलना उनका अधिकार है। इधर सिद्धू भी उर्जा विभाग संभालने को तैयार नहीं थे। विपक्ष ने यह मुद््दा बना लिया था कि मंत्री के विभाग न संभालने से संवैधानिक संकट पैदा हो गया है। भाजपा की ओर से राज्यपाल को पत्र भेजकर दखल की मांग की गई थी। अकाली दल और आम आदमी पार्टी भी धान की रोपाई के मौसम में उर्जा विभाग को बगैर मंत्री के रखे जाने को लेकर मुख्यमंत्री की आलोचना कर रहे थे। करीब एक माह के गतिरोध के बाद नवजोत सिद्धू ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया।

Advertisements

About Hindxpress News

Check Also

अनिल विज ने कहा पद नही वरिष्ठता का है मायना, दिल्ली के प्रदूषण पर कहा केजरीवाल हैं भ्रमित

चंडीगढ,15नवम्बर। करीब बीस साल के अंतराल के बाद हरियाणा के गृृहमंत्री का पद संभालने के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Show Buttons
Hide Buttons