Home / Chandigarh / गृह मंत्री अनिल विज को शराब घोटाला मामले में एस ई टी जांच पर भरोसा

गृह मंत्री अनिल विज को शराब घोटाला मामले में एस ई टी जांच पर भरोसा

चंडीगढ़,19 मई। हरियाणा में राजनीतिक सनसनी पैदा करने वाले शराब घोटाला मामले की जांच के किए गठित की गई एस ई टी पर गृह मंत्री अनिल विज को भरोसा है। उन्होंने मंगलवार को यहां कहा कि एस ई टी गहराई से जांच कर सभी को बेनकाब करेगी।

Advertisements

हरियाणा में पिछले लंबे समय से माल खानों में पुलिस की सुरक्षा ने रखी गई जब्तशुदा शराब चुराए जाने का मामला हाल मै उजागर हुआ था। हरियाणा के कई जिलों में पुलिस की सुरक्षा वाले गोदामों से शराब चोरी की गई। चोरी का खुलासा होने पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर पूर्व विधायक सतविंदर राणा समेत कई अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। गृह मंत्री ने इस मामले की जांच के किए एस आईं टी के गठन का प्रस्ताव किया था। लेकिन मुख्यमंत्री के स्तर से एस ई टी का गठन किया गया। इस पर सवाल उठाए गए है कि एस ई टी मामले में जरूरी जांच कर घोटाले को नहीं खोल पाएगी।

विज ने यहां मीडिया से बातचीत में कहा कि पुलिस के करोना वारियर को होम मिंस्टर डिस्क से सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पुलिस ने ड्यूटी के साथ सामाजिक सेवा भी की है। इसके अलावा डॉक्टरों ओर सफाई कर्मचारियों को भी सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस महामारी के दौरान सभी ने बेहतर काम किया है।

Advertisements

प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के मुद्दे पर विज ने कहा कि यह त्रिपक्षीय मामला है। पहले उस प्रदेश को अनापत्ति देना होती है जहा मजदूर को भेजा जाना है। इसके बाद रेल भेजे जाने की मंजूरी मिलती है।उन्होंने कहा कि इस प्रक्रिया को पूरा करने में समय लगता है। मजदूर जहा है वहा रहे तो उन्हें भेजा जरूर जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी राज्य इस मामले में जिम्मेदारी से काम कर रहे है। मजदूरों को प्राप्त करने वाले राज्यो को भी उन्हें ठहराने की व्यवस्था करना होती है।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

punjab-cm-amrinder-singh

कृषि अध्यादेश मामला : किसानों को CM अमरिंदर की दो टूक, कहा – विरोध करना है तो दिल्ली जाकर करें, हम किसानों के साथ है

चंडीगढ़। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की अध्यक्षता में पंजाब कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल वीपी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!