हरियाणा में बनेगा फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट, मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने की घोषणा

0
379
इस खबर को सुनें

हरियाणा में प्लाईवुड उद्योग को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश में पहला फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट बनाया जाएगा, जिस पर 50 करोड़ रुपये की लागत आएगी।

         यह घोषणा मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज जगाधरी में हुई हरियाणा प्रगति रैली में उपस्थितजनों को संबोधित करते हुए की। इससे पूर्व उन्होंने लगभग 334 करोड़ रुपये की लागत की विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास किया।

 

CM मनोहर लाल ने सढोरा के 10 बेड के अस्पताल को 50 बेड का अस्पताल करने की भी घोषणा की। इसके अलावा, उन्होंने किशनपुरा गाँव में 14 एकड़ जमीन पर नया कॉलेज भवन बनाने, फारुखपुर स्कूल को मॉडल संस्कृति स्कूल बनाने के साथ-साथ जिला यमुनानगर के चारों विधानसभा क्षेत्रों के लिए विभिन्न विकास कार्यों के लिए कुल 680 करोड़ रुपये की घोषणाएं भी की।

 

सीएम मनोहर लाल ने कहा कि व्यापार को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा हर ब्लाक में 50 से 100 एकड़ में एक औद्योगिक क्लस्टर बनाने की योजना है, ताकि नौजवानों को रोजगार के अवसर मिले। यमुनानगर के पांचो खंडों में पांच क्लस्टर बनाए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि पिछले 7 सालों में राज्य सरकार ने सभी क्षेत्रों में बिना भेदभाव के समान रूप से विकास कार्य करवाये हैं। पिछले 3 साल में जिला यमुनानगर में लगभग 1087 करोड रुपये के विकास कार्य करवाए गए हैं।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में सड़कों का जाल बिछा है। 17 नेशनल हाईवे मंजूर हुए थे, जिसमें 6 पूरे हो चुके हैं और 11 पर काम चल रहा है। यमुनानगर से पेहवा तक नेशनल हाईवे मंजूर हो चुका है, जिसका निर्माण कार्य शुरू हो चुका है। इसी प्रकार करनाल से यमुनानगर रेलवे लाइन भी मंजूर हो चुकी है इसका सर्वे किया जा रहा है, जल्द ही इसका लाभ मिलेगा।

उन्होंने कहा कि चंडीगढ के आसपास के जिलों यानी पंचकूला यमुनानगर अंबाला कुरुक्षेत्र में गुरुग्राम की तर्ज पर औद्योगिक क्षेत्र विकसित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि पिछले 7 साल में प्रदेश में 58 आरओबी/आरयूबी बनाए गए हैं, जबकि पिछली सरकारों के कार्यकाल के दौरान केवल 45 आरओबी/आरयूबी बने हैं।

उन्होंने कहा कि सरस्वती नदी के पुनरुद्धार की परियोजना भी शुरू की गई है। इसके अंतर्गत दो बांध बनाए जाएंगे और एक बांध आदि बद्री में बनेगा। जिससे पानी की अविरल धारा सरस्वती नदी में बहेगी। इसी प्रकार, लोहागढ़ में बाबा बंदा सिंह बहादुर का बहुत बड़ा स्मारक बनाने की भी योजना बनाई गई है, जिसके लिए जमीन ले ली गई है और जल्द ही स्मारक का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा।

         उन्होंने कहा कि राज्य सरकार हर जिला केंद्र पर 200 बेड का अस्पताल बना रही है। इसी योजना के अंतर्गत यमुनानगर में 200 बेड का अस्पताल बनकर तैयार हो चुका है।  इसके अलावा, यमुनानगर में श्री गुरु तेग बहादुर जी के नाम पर एक मेडिकल कॉलेज भी बनाया जाएगा, जिस पर लगभग 400 करोड़ रुपये का खर्च आएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here