Breaking News
Home / Haryana / जब यात्रियों को बस में बैठाए बिना ही निकल गया हरियाणा रोडवेज बस चालक

जब यात्रियों को बस में बैठाए बिना ही निकल गया हरियाणा रोडवेज बस चालक

जींद (रोहताश भोला) । जींद बस अड्डे पर सोमवार दोपहर बाद उस समय हंगामा हो गया, जब हांसी-चडीगढ़ रूट की बस उन यात्रियों को बस अड्डे पर ही छोड़ चंडीगढ़ के लिए निकल गई, जिन्होंने काउंटर से सीट नंबर लिया था। रोडवेज बस चालक की लापरवाही की वजह से 43 यात्रियों को परेशानी झेलनी पड़ी।

Advertisements

बता दें कि जींद डिपो की एक बस हांसी से जींद होते हुए चंडीगढ़ जाती है, जो दोपहर बाद 2 बजकर 30 मिनट पर बस अड़्डे से चंडीगढ़ के लिए निकलती है। हांसी से जब यह बस चली तो परिचालक द्वारा जो सीटें खाली थी, उनकी जानकारी बस अड्डे पर एडवांस बुकिंग के लिए बैठे परिचालक को दे दी। काउंटर पर बैठे परिचालक ने चंडीगढ़, अंबाला, पेहोवा जाने वाले यात्रियों को सीट नंबर दे दिए और बस में अपनी सीट नंबर के हिसाब से बैठने को कहा। जैसे ही बस हांसी से बस अड्डे पर प्रवेश कर बूथ पर लगी, 50 से ज्यादा छात्र एकदम से बस में घुस गए और खाली सीटों पर कब्जा जमा लिया। देखते ही देखते बस में भीड़ इतनी हो गई कि जिन यात्रियों ने बस का सीट नंबर लिया था, वह बाहर ही रह गए। ज्यादा भीड़ के कारण वह बस में नहीं चढ़ पाए और बस चल पड़ी। चालक बस को चंडीगढ़ के लिए लेकर निकल गया और यात्री पीछे से आवाज लगाते रहे गए।
कायदे से चालक-परिचालक की जिम्मेदारी होती है यात्री को सीट दिलवाना

अगर यात्री ने बस अड्डे से एडवांस में पैसे देकर सीट बुक करवाई है और सीट नंबर लिया है तो चालक-परिचालक की जिम्मेदारी होती है कि यात्री को सीट दिलवाए। कायदे से सोमवार को जो वाकया हुआ, उसमें चालक-परिचालक को तब तक बस नहीं चलानी चाहिए थी, जब तक वह यात्री बस में नहीं बैठ जाते, जिन्होंने सीट नंबर लिया है। चंडीगढ़ जाने वाले सुभाष, राजीव, मनबीर ने कहा कि उन्हें चंडीगढ़ जाना था और इसके लिए काउंटर से सीट नंबर भी लिया लेकिन चालक उन्हें बस में बैठाए बिना ही चंडीगढ़ के लिए बस लेकर चला गया। इसके कारण उन्हें काफी परेशानी झेलनी पड़ी।

Advertisements

जींद डिपो में इस समय लगभग 165 बसें विभिन्न रूटों पर दौड़ रही हैं। चंडीगढ़ के लिए जींद डिपो की दो या तीन बस ही हैं। बसों की कमी के चलते यात्रियों को हर रोज इसी तरह की परेशानी झेलनी पड़ती है। एक रूट पर दो-दो घंटे बाद ही कोई बस जाती है। सोमवार को दोपहर बाद जिस समय हांसी से चंडीगढ़ के लिए बस आई, उससे लगभग सवा घंटे पहले दूसरी बस निकली थी। ऐसे में यात्रियों और विशेषकर पढ़ने वाले छात्रों की संख्या इतनी ज्यादा थी कि जैसे ही चंडीगढ़ की बस आई, शाहपुर, कंडेला, नगूरां, पेगां, किठाना समेत दूसरे गांवों के छात्र बस में एकदम से सवार हो गए। हर किसी को अपने घर पहुंचने की जल्दी होती है। बसों की कमी पूरी हुए बिना इस तरह की परेशानी का समाधान नहीं हो सकता।

 

जिन यात्रियों ने सीट नंबर लिया था और वह बस में सवार नहीं हो पाए, उन्हें अगली बस में बैठाकर रवाना कर दिया गया। बस में छात्रों की भीड़ इतनी ज्यादा थी कि चालक को पता ही नहीं चल पाया कि कौन बैठ गया और कौन बच गया। चालक को भी बोला गया है, आगे से ऐसी गलती नहीं करे।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

toahana-bijlai

बिजली विभाग के खिलाफ धरना दे रहे किसानों को मनाने पहुंचे टोहाना एसडीएम,किसान बोले – नहीं मिला ठोस आश्वासन, धरना रहेगा जारी

टोहाना (नवल सिंह) । जिला फतेहाबाद टोहाना की जाखल में बिजली विभाग द्वारा की जा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!