Home / Chandigarh / हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला : जब तक किसान आंदोलन जारी रहेगा, हरियाणा रोडवेज की कोई बस पंजाब नहीं जाएगी

हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला : जब तक किसान आंदोलन जारी रहेगा, हरियाणा रोडवेज की कोई बस पंजाब नहीं जाएगी

किसानों के दिल्‍ली कूच के मद्देनजर हरियाणा सरकार ने बड़ा फैसला लिया है, जिसके तहत प्रदेश की रोडवेज बसें पंजाब में नहीं जाएंगी। मनोहर सरकार ने इसकी घोषणा कर दी है। जब तक किसान आंदोलन जारी रहेगा, हरियाणा रोडवेज की कोई बस पंजाब नहीं जाएगी। इसके साथ ही सभी रोडवेज डिपो को अतिरिक्त बसों की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं। डिपो को 5-5 अतिरिक्त बसें रखने को कहा गया है। तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों की ओर से 26 नवंबर को ‘दिल्ली चलो’ का आह्वान किया है। इसके मद्देनजर मनोहर सरकार ने हरियाणा पंजाब बॉर्डर सील कर दिया है।

 

वहीं सरकार ने आदेश दिए गए हैं कि पंजाब की ओर से कोई भी हरियाणा में घुस न पाए। लेकिन अंबाला के मोहड़ा में भाकियू के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी के नेतृत्व में प्रदेश के कई जिलों के किसान इकट्‌ठा हुए थे। उन्होंने आगे बढ़ने की कोशिश की तो पुलिस जवानों ने उन्हें रोकने की कोशिश की। इस दौरान किसानों और पुलिस वालों में टकराव हो गया। झड़प भी हुई। यहां तक कि किसानों ने बैरिकेड भी तोड़ दिए। इसके चलते हरियाणा पुलिस को किसानों को रोकने को लिए वाटर कैनन का इस्तेमाल करना पड़ा।

 

 

बता दें कि चंडीगढ़-दिल्‍ली हाईवे पर कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं। बैरिकेड लगाकर सड़क पर आवागमन रोक दिया गया है। अंबाला में मोहड़ा मंडी के पास रैपिड एक्शन फ़ोर्स की टीम तैनात है। पुलिस ने सभी जिलों में नाकेबंदी बढ़ा दी है। पंजाब जाने वाले मुख्य रास्ते बंद कर दिए गए हैं। जींद में दातासिंहवाला बॉर्डर और अम्बाला में देवीनगर और सद्दोपुर बॉर्डर सील किए हैं। झज्जर-रेवाड़ी समेत कई जिलों में धारा 144 लगा दी है। सोनीपत में कुंडली बॉर्डर पर नाकेबंदी कड़ी कर दी है।

 

Check Also

IMG-20200113-WA0044

राज धरणी सागर की जयंती पर विशेष

चंडीगढ़ 12  जनवरी : सुप्रसिद्ध इतिहासकार, साहित्यकार, लेखक, समकालीन विश्लेषक व काव्य संग्रह में अमित  …