युवा हुंकार रैली में पहुंचे दुष्यंत चौटाला,अशोक अरोड़ा के इनलो से इस्तीफे को बताया दुखद | Hindxpress

युवा हुंकार रैली में पहुंचे दुष्यंत चौटाला,अशोक अरोड़ा के इनलो से इस्तीफे को बताया दुखद

इंसानियत हुई शर्मसार: बहू ने लगाए ससुर और देवर पर गैंगरेप के गंभीर आरोप..
महिला मित्र हरियाणवी कलाकार ने करवाई थी जमींदार की किडनैपिंग -एसपी

कैथल(अनिल चौधरी)। कैथल के चन्दना गेट रामलीला मैदान में हो रही युवा हुंकार रैली में पहुंचे दुष्यंत चौटाला बड़ी फूलमाला से हुआ स्वागत , कायर्कर्ताओं ने चाबी नई निशान का कटआउट देकर किया दुष्यंत का सम्मान अपने सम्बोधन में दुष्यंत चौटाला ने लोगो का जजपा में शामिल होने पर धन्यवाद किया और बोले 30 दिन बचे है अब हमारी जिम्मेदारी है कि घर घर जाकर पार्टी संघठन को मजबूत करें ! प्रधानमंत्री की रैली को लेकर हवा बनाई थी पर यह रैली साढ़े 40 हजार लोगों तक सिमट गई उन्हों कटाक्ष करते हुए कहा की कैथल से लठ बजने की शुरुआत हो चुकी है ! भाजपा में परिवर्तन के लिए जेजेपी को चुन रहे है! कांग्रेस में प्रधान बदलने से हालात नहीं सुधरेंगे ! बदलाव ऐसा लाओ जो भविष्य में युवाओं को रोजगार दे, कमेरे वर्ग को ऊंचाई पर लेकर जाए ! गुड़गांव में कॉपरेशन के चुनाव में भ्रष्टाचार हुआ !

पत्रकारों से बात करते हुए दुष्यंत चौटाला ने कहा की जजपा विधानसभा चुनावो के लिए सीटों की घोषणा होगी 12 सितम्बर को करेगी जिसमे 50 प्रतिशत होगी युवाओ की भागेदारी होगी। किसी पार्टी के साथ गठबंधन को नकारते हुए कहा हम विधान सभा में 90 की 90 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। कैथल पहुंचे जजपा सुप्रीमो दुष्यंत चौटाला ने कहा जजपा और इनलो के विलय का फैसला हमने डॉ अजय चौटाला और सरदार प्रकाश सिंह बादल पर छोड़ दिया है।हम परिवारिक तोर पर एक है लेकिन कुछ लोगो बाँटने में लगे हुए है।

जजपा सुप्रीमो दुष्यंत चौटाला ने कहा आज प्रदेश में बेरोजगार और अपराधीकरण बढ़ता जा रहा है। वंही प्रधानमंत्री की रोहतक की रैली पर सवालिया निशान उठाते हुए कहा जंहा एक और जोर से प्रचार किया जा रहा था वहीं हजारो लोगो का आना साबित करता है कि लोगो का भाजपा से मोह भंग हो चूका है लोगो परिवर्तन के लिए मजबूती से जन नायक जनता पार्टी के साथ जुड़ रहे है।

भूपिंदर सिंह हुड्डा के नए प्रभार को मात्र लॉलीपाप बताते हुए कहा अगर पॉवर देनी होती तो प्रदेश अध्यक्ष या कोर्डिनेशन कमेटी का अध्यक्ष बनाते मात्र टिकट कमेटी का अध्यक्ष बनाकर पुत्र मोह में लॉलीपाप मिली है

वंही अशोक अरोड़ा के इनलो से इस्तीफे को दुखद बताते हुए कहा जिस पार्टी ने उन्हें सब कुछ दिया उनका पार्टी से मोह क्यों भंग हुआ ? जब हमारे खिलाफ कार्यवाही हुई थी उस समय पार्टी में वो अकेले इंसान थे उस समय भी उन्होंने प्रयास किये थे जिन लोगो ने हमे प्रताड़ित किया शायद अरोड़ा जो को भी उन्होंने प्रताड़ित के पार्टी से भर जाने के लिए मजबूर किया।

बसपा के गठबंधन तोड़े जाने पर पूछे जाने पर कहा हमारे साथ तो 50:30 का समझौता हुआ था वो तो मायावती ही बताएगी की किस दबाब के कारण उन्होंने गठबंधन तोडा। और किसी पार्टी के साथ गठबंधन को नकारते हुए कहा हम विधान सभा में 90 की 90 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0