Home / Haryana / सभी फसलों का पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन बंद करके 100 प्रतिशत एमएसपी पर फसल खरीदने का गारंटी कानून लाया जाए : स्वामी

सभी फसलों का पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन बंद करके 100 प्रतिशत एमएसपी पर फसल खरीदने का गारंटी कानून लाया जाए : स्वामी

इंद्री 20 जुलाई (मैनपाल कश्यप किसान यूनियन ने अपनी मांगों को लेकर सोमवार को इंद्री शहर में  प्रदर्शन करते हुए ट्रैक्टरों पर सवार होकर काले झंडे लगाकर एसडीएम कार्यालय में पहुंचे  राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव रविंदर स्वामी ने कहा कि सरकार ने कोरोना का बहाना लेकर, जबकि देश की संसद बंद थी किसानों के खिलाफ तीन अध्यादेश लाकर किसानों के साथ बहुत बड़ा धोखा किया है। उन्होंने कहा कि यह तीनों अध्यादेश किसानों को भुखमरी के कगार पर पहुंचा देंगे।

Advertisements

 

 राष्ट्रीय महासचिव रविंद्र स्वामी ने कहा कि देश का किसान इस गुलामी को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगा। सरकार आज अंग्रेजी हुकूमत की तरह किसानों को बर्बाद करने पर तुली हुई है। उन्होंने कहा कि ई टेंडरिंग प्रणाली लाकर किसानों को लूटने की व्यापारियों को खुली छूट दी गई है। जबकि किसानों को इसके बारे में कोई ज्ञान नहीं है और हमारे देश का किसान भी इतना पढ़ा लिखा नहीं है। उन्होंने बताया कि ई टेंडरिंग के माध्यम से व्यापारी किसानों की फसलों को खरीदेंगे और उनके खेतों से ही खरीद होगी। सरकार ने अध्याय देश में किसानों के हक की कोई भी बात नहीं रखी कि व्यापारी एमएसपी रेट पर या उससे ऊपर किसानों की फसल खरीदेंगे।

 

केंद्र सरकार ने राष्ट्रपति से मंजूरी लेकर इन तीनों अध्यक्षों को लागू कर दिया है। इनके मुताबिक किसान न्यायालय का दरवाजा नहीं खटखटा  सकता वह सिर्फ एसडीएम व डीसी कार्यालय तक ही सीमित रह जाएगा और किसानों के साथ जमकर लूट होगी। उन्होंने बताया कि आज पूरे देश में किसान यूनियन द्वारा एक साथ राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा गया है। उन्होंने सरकार से अपील की है के इन अध्याय देशों को वापस ले मंडियों में हो रही लूट को बंद करें। अध्यादेश के आने से प्रदेश की मंडियों खत्म हो जाएगी। मंडियों से जो 4प्रतिशत टैक्स में लिया जाता था उनमें से 2प्रतिशत टैक्स से गांव का सुधार होता था जैसे सड़कें आदि बनवाई जाती थी। लेकिन मंडियों के खत्म होने पर गांव के विकास पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ेगा  

Advertisements

 

इस अवसर पर रविंद्र स्वामी राष्ट्रीय महासचिव भारतीय किसान यूनियन, रामपाल चहल, देवी दत्त, मलकीत सिंह, सतपाल सिंह मंडी प्रधान इंद्री, ऋषि पाल, बलकार शेखपुरा, मनजीत, नरेंद्र नंबरदार, बलवान सिंह, नफे सिंह संधू, राजवीर नैन कमालपुर आदि काफी संख्या में किसान मौजूद रहे।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

jind-pipe

देखें ऐसा क्या हुआ जब जींद अनाज मंडी बजने लगे पीपे

जींद (रोहताश भोला) । हरियाणा के जींद जिले में आढ़तियों और किसानो ने मिलकर अनोखा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!