Breaking News
Home / Crime / झज्जर में लिंग जांच गिरोह का भंडाफोड़, पूर्व एंबुलेंस चालक गिफ्तार, अस्पताल की दो नर्स भी थी शामिल

झज्जर में लिंग जांच गिरोह का भंडाफोड़, पूर्व एंबुलेंस चालक गिफ्तार, अस्पताल की दो नर्स भी थी शामिल

झज्जर (सुमित कुमार)। झज्जर जिले की स्वास्थ्य विभाग की टीम ने लिंग जांच रैकेट का भंड़ाफोड़ किया है। लिंग जांच गिरोह के रैकेट के इस भंड़ाफोड़ मामले में चौकाने वाली बात यह है कि लिंग जांच के इस खेल में बाहरी व्यक्तियों के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग के ही कर्मचारी शामिल मिले है। इनमें विभाग की दो स्टॉफ नर्स व विभाग का एक पूर्व एम्बूलैंस चालक है। हांलाकि विभाग ने मामले की पूरी जांच किए जाने के बाद विभाग से ही सम्बन्ध रखने वाली कुछ बड़ी मछलियों के फंसने की बात भी कही है।

Advertisements

फिलहाल लिंग जांच के यह तार गाजियाबाद से जुड़े हुए थे,जिसकी तह तक पहुंचने के लिए विभाग की टीम को काफी मशक्कत करनी पड़ी और घंटों इंतजार भी करना पड़ा। आखिरकार विभाग की टीम को इसमें सफलता हासिल हुई। जिसमें विभाग के तीन लोगों के अलावा आधा दर्जन से ज्यादा लोगों के शामिल होने की पुष्टि विभाग द्वारा की गई है। फिलहाल इस मामले में टीम के हाथ विभाग को पूर्व एम्बूलैंस चालक सुमित निवासी वजीरपुर बेरी को काबू कर उसके कब्जे से 15 हजार रूपए बरामद किए है। प्रारंभिक कार्यवाही में स्वास्थ्य विभाग की दो नर्स, एक पूर्व एंबुलेंस चालक सहित कुल आठ आरोपित सामने आए हैं। सभी के खिलाफ बेरी थाना में मामला दर्ज कराया गया है। 70 हजार रूपये में लिंग जांच की डील के मामले में आरोपित सुमित ने पूरी घटना का खुलासा बेरी में पहुंचने के बाद किया। रिपोर्ट को नेगेटिव बताते हुए उसे प्रक्रिया के बारे में जानकारी दी। बहरहाल, स्वास्थ्य विभाग की ओर से थाना बेरी में मामला दर्ज कराया गया है। उम्मीद की जा रही है कि पूरी घटना में अभी अन्य कई नाम सामने आएंगे।

 

यह था मामला:
दर्ज कराए गए मामले के मुताबिक स्वास्थ्य विभाग की एक स्टॉफ नर्स नीलम ने एक नकली ग्राहक (विभाग द्वारा तैयार किए गए ग्राहक) के साथ 70 हजार रूपये में लिंग जांच कराने की डील की थी। तय डील के मुताबिक मंगलवार सुबह एक पूर्व एंबुलेंस चालक सुमित शहर के छिक्कारा चौक पर पहुंचा और 70 हजार की नगदी लेने के बाद वह ग्राहक द्वारा लाई गई गाड़ी में बैठकर वहां से चल दिया। जो कि उन्हें गाजियाबाद ले गया। वहां पर उन्हें दो अन्य लोग मिलें।
जो कि पहले मोटरसाइकिल से और फिर एक गाड़ी से घर में बनाए गए अल्ट्रासाउंड सेंटर तक ले गए। जिस गाड़ी में टीम की ग्राहक को ले जाया गया। उसमें दो अन्य महिला ग्राहक भी शामिल थी। झज्जर से गाजियाबाद तक जाने में सुमित एक अन्य स्टॉफ नर्स सरिता दहिया से भी फोन पर बात करता रहा। बहरहाल, पूरी प्रक्रिया में गाजियाबाद से जुड़े हुए लोगों सहित आठ आरोपित अभी तक सामने आए है।

Advertisements

 

यह बोले सीएमओ:
नि:संदेह यह एक बड़ा रैकेट है। आने वाले दिनों में होने वाली जांच में अन्य नामों का भी खुलासा होने की उम्मीद है। स्वास्थ्य विभाग की दो नर्स सहित कुल आठ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराते हुए जांच की जा रही है।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

jhajjar-safayi-karmi

सफाई कर्मियों ने भी खट्टर सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

झज्जर (सुमित कुमार) । अन्य कर्मचारियों की तरह अब पालिका के सफाई कर्मियों ने भी …

error: Content is protected !!