Breaking News
Home / Chandigarh / गाय के गोबर से बन रहे गौरी-गणेश की मूर्तियां,पर्यावरण संरक्षण का संदेश

गाय के गोबर से बन रहे गौरी-गणेश की मूर्तियां,पर्यावरण संरक्षण का संदेश

चंडीगढ़। इस बार चाइनीज मुक्त सामान के साथ दिवाली मनाने की तैयारी शुरू हो चुकी है। गाय के गोबर से बने दीयो की अद्भुद छटा से दिवाली रंगीन होगी, जिसके लिए चंडीगढ़ सेक्टर 45 की गौशाला  में गाय के गोबर से मूर्तियां और दीये तैयार किए जा रहे हैं।  गाय के गोबर से बने दीये जलाने से प्रदूषण कम होने के साथ ही प्रकृति को शुद्धता भी मिलेगी।

Advertisements

भारतीय परंपरा में बेहद पवित्र और अपने औषधीय महत्व के कारण पंचगव्य में से एक गाय के गोबर से गौरी-गणेश की मूर्तियां बनाने की पहल शुरू की गई है। इस बार दीपावली में लोग इन मूर्तियों का भी पूजन में उपयोग कर सकते हैं। बायोडिग्रेडबल होने के कारण ये मूर्तियां इको फ्रेंडली होंगी। घर के गमले में विसर्जित करने पर ये कंपोस्ट खाद में तब्दील हो जाएंगी। यह पर्यावरण संरक्षण का एक संदेश भी देंगे।

Advertisements
HINDXPRESS NEWS CLICK HERE

गौशाला सेक्टर 45 में लगभग 1050 गो संख्या है उनके गोबर का सदुपयोग करने के लिए और स्वच्छ भारत अभियान के तहत चंडीगढ़ जैसे शहर को साफ सुथरा रखने के लिए एक छोटा सा प्रयास किया गया है कि गोबर का सदुपयोग किया जाए उसके तहत निशुल्क वितरण किए गए।

इस मौके पर मनदीप मित्तल, शिव सिंह,दिलीप रावत, रजनीश शर्मा, सुमित शर्मा, विनोद कुमार आए हुए गौ भक्तों को प्रदूषण रहित दीपावली मनाई जाए ऐसी शपथ सभी गौ भक्तों को दिलवाई गई सभी गौ भक्तों ने संकल्प लिया प्रदूषण रहित दीपावली मनाएंगे।

Check Also

haryana roadways

हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला : जब तक किसान आंदोलन जारी रहेगा, हरियाणा रोडवेज की कोई बस पंजाब नहीं जाएगी

किसानों के दिल्‍ली कूच के मद्देनजर हरियाणा सरकार ने बड़ा फैसला लिया है, जिसके तहत …