Home / Haryana / कल से ऐसे होंगे माता मनसा देवी के दर्शन, जानें- क्या है राज्यों की गाइडलाइन

कल से ऐसे होंगे माता मनसा देवी के दर्शन, जानें- क्या है राज्यों की गाइडलाइन

कोरोना महामारी के चलते करीब ढाई महीने से बंद धार्मिक स्थल सोमवार से खुलने जा रहे हैं। ऐसे में अब अचानक श्रद्धालुओं की भीड़ न उमड़ पड़े और कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा खड़ा न हो। इसके लिए केंद्र सरकार के दिशा-निर्देशों के आधार पर सभी राज्यों की ओर से शनिवार को गाइडलाइन जारी की गई हैं।

Advertisements

इसी के मद्देनजर शनिवार को हरियाणा में पंचकूला स्थित माता मनसा देवी पूजा स्थल बोर्ड के सीईओ एमएस यादव ने माता मनसा देवी मंदिर व् कालका काली माता मंदिर का दौरा किया और व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

उन्होंने बताया कि श्रद्धालुओं को मंदिर में दर्शन करवाने के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है केवल सरकारी आदेश जारी होने का इंतजार किया जा रहा था। सोमवार से नियमों के अनुसार श्रद्धालु मंदिर में माता के दर्शन कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि सभी श्रद्धालु मास्क लगाकर मंदिर आएं और सोशल डिस्टेंसिंग का खास ध्यान रखें।

Advertisements

बताया कि मंदिर की सभी घंटियों को उतार लिया गया है। उन्होंने बताया कि श्रद्धालुओं के लिए सुबह 6 बजे से रात्रि साढ़े 8 बजे तक मंदिर के कपाट खुले रहेंगे। मंदिर के बाहर जल्द गाइडलाइन संबंधी बैनर भी लगा दिए जाएंगे।

मंदिर के मुख्य द्वार से श्रद्धालुओं की एंट्री होगी, जिसकी स्क्रीनिंग होने के बाद यदि तापमान सही आता है तो केवल उसे ही मंदिर में जाने दिया जाएगा। बताया कि स्क्रीनिंग के बाद वह जूता घर में अपने जूते व चप्पल उतारेंगे। उसके बाद श्रद्धालु हाथ सैनिटाइज करने के अलावा साबुन से हाथ व पैर धोने के बाद आगे बढ़ेंगे।

देवभूमि हिमाचल और जम्मू कश्मीर में लॉकडाउन और क‌र्फ्यू के बाद से अभी तक मंदिरों के कपाट नहीं खुल पाए हैं। बेशक मंदिर प्रशासन अपनी ओर से तैयारियों में जुट गए हैं लेकिन अभी तक प्रदेश सरकार के फैसले का इंतजार है। हिमाचल में आठ जून को मंदिर खोलने पर अभी संशय बना हुआ है। शनिवार देर शाम तक सरकार की ओर से अभी तक कोई दिशा-निर्देश जारी नहीं हुए हैं। माता वैष्णो देवी की यात्रा और जम्मू में प्रसिद्ध बावे वाली माता के मंदिर में पिछले कई दिनों से तैयारियां चल रही हैं।

 

प्रत्येक धर्म स्थल में एक बार में एक स्थान पर पांच से अधिक श्रद्धालु न हों।

– प्रवेश द्वार पर सैनिटाइजर का प्रयोग किया जाए और इन्फ्रारेड थर्मामीटर की भी व्यवस्था यथासंभव की जाए।

– जिन व्यक्तियों में कोई लक्षण नहीं मिलेगा, केवल उन्हें ही परिसर में प्रवेश की अनुमति होगी।

– सभी प्रवेश करने वाले व्यक्तियों को फेस कवर, मास्क का प्रयोग करना अनिवार्य होगा।

– जूते-चप्पलों को अपने वाहन आदि में उतारकर रखना होगा।

– मूर्तियों, पवित्र ग्रंथों आदि को छूने की अनुमति नहीं होगी।

– लंगर, सामुदायिक रसोई, अन्नदान आदि के लिए भोजन तैयार या वितरित करते समय शारीरिक दूरी के मानकों का अनुपालन करना होगा।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

jind-pipe

देखें ऐसा क्या हुआ जब जींद अनाज मंडी बजने लगे पीपे

जींद (रोहताश भोला) । हरियाणा के जींद जिले में आढ़तियों और किसानो ने मिलकर अनोखा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!