Home / Haryana / पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने दी सीएम मनोहर को चुनौती

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने दी सीएम मनोहर को चुनौती

5 जून, सोनीपतः पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने मौजूदा मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को चुनौती देते हुए कहा कि अगर सरकार को अपने विकास कार्यों पर भरोसा है तो CM खट्टर को ख़ुद बरोदा उप-चुनाव में बतौर उम्मीदवार उतरना चाहिए। अगर खट्टर उप-चुनाव लड़ते हैं तो मैं उनके सामने चुनाव लड़ने के लिए तैयार हूं। अगर ऐसा होता है तो 2024 के बजाए बरोदा उप-चुनाव में ही सरकार के विकास कार्यों और उसकी लोकप्रियता का फ़ैसला हो जाएगा। नेता प्रतिपक्ष ने मुख्यमंत्री खट्टर के बरोदा में दिए बयान को गैर ज़िम्मेदाराना करार दिया। मुख्यमंत्री ने कहा था कि अगर बरोदा की जनता सरकार में हिस्सेदारी चाहती है तो बीजेपी को वोट दे। भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि ज़िम्मेदार पद पर बैठकर मुख्यमंत्री को ऐसी हल्की बयानबाज़ी नहीं करनी चाहिए। उन्हें हिस्सेदारी का प्रलोभन देने के बजाय बरोदा की जनता को आश्वासन देना चाहिए था कि वो यहां का विकास करवाएंगे, क्योंकि वो बरोदा समेत पूरे हरियाणा के मुख्यमंत्री हैं।

Advertisements

 

हुड्डा ने कहा कि 6 साल राज करने के बाद भी मुख्यमंत्री के पास बरोदा में गिनवाने के लिए एक भी काम नहीं है। जबकि कांग्रेस सरकार के दौरान बरोदा में बिजली, पानी, रोजगार, सड़क, स्कूल, स्वास्थ्य, सिंचाई, कृषि और व्यापार हर क्षेत्र में जमकर विकास हुआ। सच तो ये है कि बरोदा ही नहीं बीजेपी सरकार के पास पूरे हरियाणा में गिनवाने के लिए कोई भी बड़ा काम नहीं है। बीजेपी सरकार ने प्रदेश पर कर्ज़ को बढ़ाकर 60 हज़ार करोड़ से 2 लाख करोड़ कर दिया। बावजूद इसके बीजेपी ने पूरे कार्यकाल में कोई बड़ी यूनिवर्सिटी, मेडिकल कॉलेज, बड़ा संस्थान, बड़ा उद्योग, नयी रेलवे लाइन या मेट्रो लाइन स्थापित नहीं की। मौजूदा सरकार से ग़रीब, मध्यम वर्ग, मजदूर, दुकानदार, व्यापारी और कर्मचारी समेत हर वर्ग दुखी है। सबसे ज़्यादा मार किसान पर पड़ रही है। एक तरफ कोरोना तो दूसरी तरफ तेल की कीमतें और सरकार की नीतियां किसान की दुश्मन बन बैठी हैं। बीजेपी 2022 तक किसान की आय दोगुनी करने का वादा करती है। लेकिन, लगातार खेती की लागत को दोगुना करने की दिशा में काम कर रही है।

 

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि आज देश और प्रदेश की जनता 5-C से घिरी हुई है। चीन और कोरोना से तो पूरी दुनिया ही परेशान है। लेकिन हरियाणा की जनता पर करप्शन, क्राइम और कास्टिज्म की अलग मार पड़ रही है। कांग्रेस सरकार में जो हरियाणा विकास, निवेश, खेलकूद और रोजगार में अव्वल हुआ करता था, वो आज क्राइम, करप्शन, बेरोजगारी और नशे में टॉप पर है। क्राइम का आलम ये है कि आज ना आमजन सुरक्षित है और न ही पुलिस वाले। सरेआम हत्याएं हरियाणा में आम बात हो गई है। उन्होंने कहा कि गोहाना में जिन दो पुलिसवालों की हत्या की गई है उनके परिवारों की मांग मानते हुए सरकार को उन्हें यूपी की तरह 1-1 करोड़ रुपये आर्थिक मदद और परिवार में एक-एक सरकारी नौकरी देनी चाहिए। भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने ड्यूटी के दौरान शहीद हुए दोनों पुलिसवालों के घर जाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी और परिजनों के प्रति अपनी संवेदनाएं प्रकट की।

Advertisements

 

हुड्डा ने कहा कि क्राइम ही नहीं करप्शन के मामले में भी बीजेपी सरकार नए रिकॉर्ड स्थापित कर रही है। धान ख़रीद, माइनिंग और शराब घोटाला सबके सामने है। घोटालों की जांच के लिए सरकार के भीतर ही किसी तरह का समन्व्य देखने को नहीं मिलता। शराब घोटाले की जांच को एसआईटी और एसईटी के फेर में उलझा कर रफा-दफा कर दिया गया। आजतक असली दोषियों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। बाकी घोटालों की भी जांच करने के बजाय, उन्हें ढंकने का काम किया गया।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

jind-pipe

देखें ऐसा क्या हुआ जब जींद अनाज मंडी बजने लगे पीपे

जींद (रोहताश भोला) । हरियाणा के जींद जिले में आढ़तियों और किसानो ने मिलकर अनोखा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!