Home / Chandigarh / दुष्यन्त ने दे दी सतविंदर राणा की क्लीन चिट – कहा FIR या चार्जशीट से कोई नहीं बन जाता अपराधी

दुष्यन्त ने दे दी सतविंदर राणा की क्लीन चिट – कहा FIR या चार्जशीट से कोई नहीं बन जाता अपराधी

चंडीगढ़,15 मई। हरियाणा के डिप्टी सीएम एवं आबकारी व कराधान मंत्री दुष्यंत चौटाला ने लाकडाउन के दौरान बिकी अवैध शराब पर कड़े तेवर दिखाए हैं। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और अपने चाचा इनेलो विधायक अभय सिंह चौटाला के प्रति भी कड़ा रुख अपनाया। दुष्यंत ने कहा कि मुझ पर गलत कार्यों में लगे लोगों को शह देने के आरोप लगाए जाते हैं। उन्हें याद होना चाहिए कि शराब तस्करी रोकने के लिए कड़ा कानून मैंने ही बनाया है। मैं स्वयं इस कानून को कैसे तोड़ सकता हूं।

Advertisements

चंडीगढ़ में मीडिया से मुखातिब हुए डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने जजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं पूर्व विधायक सतविंद्र राणा का भी खुलकर बचाव दिया। दुष्यंत ने कहा कि सतविंद्र किसी मामले में अपराधी नहीं है। उन्होंने खुद अपने गोदाम से शराब चोरी की रिपोर्ट दर्ज करा रखी है। उन्हें पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। यदि एफआइआर और चार्जशीट से ही कोई अपराधी घोषित हो जाता है तो भूपेंद्र सिंह हुड्डा और अभय सिंह चौटाला के विरुद्ध न जाने कितने मुकदमे दर्ज हैं।

 

दुष्यंत चौटाला ने इस बात से इंकार किया कि सतविंद्र राणा की मदद करने के लिए उन्होंने किसी पुलिस या प्रशासनिक अधिकारी को फोन किए। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि सतविंद्र ने उनसे इस मामले में न तो कोई मदद मांगी और न ही उन्हें उनके किसी केस का पता है। सतविंद्र को जब पुलिस ने पूछताछ के लिए बुलाया तो मैंने डीजीपी से बात कर पूरे मामले को समझने की जरूर कोशिश की। अब जब तक कानूनी प्रक्रिया पूरी नहीं हो जाती और सतविंद्र मुझसे मुलाकात कर सारी जानकारी नहीं देते, तब तक उनके विरुद्ध किसी तरह की कार्रवाई का कोई मतलब नहीं बनता।

Advertisements

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हमारी नीयत और मंशा पूरी तरह से साफ है। हमारी सरकार ने जिस तरह की आबकारी पालिसी बनाई, वैसी किसी दूसरे राज्य की नहीं है। इस पालिसी में शराब की तस्करी और टैक्स की चोरी करने वालों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई का प्रावधान है। एक सवाल के जवाब में दुष्यंत ने कहा लाकडाउन के दौरान शराब के ठेके बंद होने की वजह से अवैध तौर पर शराब बिकी। अगर शराब के ठेके खुले रहते तो अवैध बिक्री नही होती और घोटाले नहीं होते, लेकिन एसइटी इस बारे में तह तक जाने की कोशिश कर रही है।

डिप्टी सीएम ने कहा कि हमने एसइटी को गंभीरता से जांच कर रिपोर्ट देने को कहा है। एसइटी की रिपोर्ट का इंतजार है। इस रिपोर्ट में चाहे कोई भी और कितना भी बड़ा व्यक्ति हो, उसके विरुद्ध कार्रवाई करने से सरकार नहीं हिचकेगी। दुष्यंत ने पूर्व विधायक सतविंद्र राणा की गिरफ्तारी से जुड़े एक सवाल के जवाब में कहा कि आबकारी विभाग ने 2016 में एक गोदाम सील किया। इस गोदाम में हर्बल ब्रांड की लीकर थी। इस लेबल को बेचने की अनुमति हरियाणा में नहीं थी। फिर 2016 में ही मार्च में गोदाम में चोरी हो गई। शराब चोरी की रिपोर्ट राणा ने लिखवाई। यह लॉक डाउन से पहले की बात है। इस मामले में कोई ईश्वर सिंह नाम का व्यक्ति पकड़ा जाता है और उसके कहने पर पुलिस पूर्व विधायक को हिरासत में पूछताछ के लिए लेती है। जब वह वापस लौटेंगे तो सारी बात बताएंगे।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

punjab-cm-amrinder-singh

कृषि अध्यादेश मामला : किसानों को CM अमरिंदर की दो टूक, कहा – विरोध करना है तो दिल्ली जाकर करें, हम किसानों के साथ है

चंडीगढ़। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की अध्यक्षता में पंजाब कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल वीपी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!