Home / Crime / Crime : लूट का केस दर्ज कराने से खफा बदमाश गांव में बदला लेने आए थे, घर में घुसे तो गांववालों ने 2 की गोली मारकर हत्या की

Crime : लूट का केस दर्ज कराने से खफा बदमाश गांव में बदला लेने आए थे, घर में घुसे तो गांववालों ने 2 की गोली मारकर हत्या की

पानीपत (परवीन भारद्धाज) । पानीपत जिले के बांध गांव में लूट का केस दर्ज कराने से खफा बदमाश बदला लेने पहुंचे तो ग्रामीणों ने 2 बदमाशों को गोली मारकर ढेर कर दिया। दोनों तरफ से करीब 12 राउंड फायरिंग हुई। गोली एक बदमाश के सिर के पार निकल गई। दूसरे के नाक के पास गोली लगने का निशान है। इसके बाद सरगना दो साथियों संग कार से फरार हो गया।वारदात के बाद पुलिस ने किया एक दर्जन लोगो को किया काबू। ढाबा संचालक के पक्ष में हुई गांव में पंचायत। न्याय के लिए पहुंचे पुलिस कप्तान से गुहार लगाने ।सुरक्षा के मद्देनजर भारी पुलिस बल लघु सचिवालय के सामने तैनात।

Advertisements

दरअसल मामले की शुरूआत 14 अगस्त को हुई थी। बांध गांव के धर्मपाल का करनाल जिले के कोहंड कस्बे में धर्म ढाबा है। 14 अगस्त की रात 11.40 पर उसके ढाबे में 3 गुंडे घुस आते हैं। वे अंदर आते ही पिस्टल तान देते हैं और कैश काउंटर से 60 हजार रुपये और उसकी और उसके भतीजे की सोने की चैन छीन लेते हैं। आरोपियों में धर्मपाल के गांव का ही एक विकास भी शामिल था। उनकी लूट का जब धर्मपाल के भतीजे ने विरोध किया तो उन्होंने पिस्टल के बट से उसे भी घायल कर दिया और जाते-जाते हवाई फायरिंग करते हुए धमकी देकर गए कि अगर एफआईआर करवाई तो जान से मार देंगे और गांव में नहीं रहने देंगे।

धर्मपाल ने इस मामले की शिकायत घरौंडा थाने में करवा दी। आरोपी विकास को इसका पता चल गया। इससे खफा विकास सोमवार रात को अपने 5 साथियों के साथ धर्मपाल के घर पहुंच गया। उसके साथ अन्य आरोपी एनसी कॉलेज का गार्ड सतीश और गांव डिकाडला का मनीष भी था। मनीष व सतीश कार से उतरकर धर्मपाल के घर के अंदर आने लगे। सभी ने फायरिंग शुरू कर दी। गांववालों को पहले से भनक लग गई थी कि आरोपी आ रहे हैं। ऐसे में उन्हें देख गांववालों ने भी फायरिंग कर दी। सतीश और मनीष वहीं ढेर हो गए। विकास अपने दो साथियों के साथ कार लेकर फरार हो गया। रात में ही सीआईए पुलिस ने गांव के 11 लोगों को उठाया।

Advertisements

 

सोमवार रात में वारदात के बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची और क्राइम इनवेस्टिगेशन एजेंसी (सीआईए) ने हत्या के आरोप में गांव के 11 लोगों को उठा लिया है। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। वहीं मृतकों के शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए पानीपत के सिविल अस्पताल पहुंचा दिया है।

 

बांध गांव में मंगलवार सुबह 36 बिरादरी की पंचायत हुई। इस पंचायत को धर्मपाल व उसके परिवार ने बुलाया था। पंचायत की अगुवाई बांध गांव के सरपंच गुलाब सिंह ने की। इसमें करीब 150 लोग शामिल हुए। पंचायत में फैसला लिया गया कि पुलिस द्वारा उठाए गए 11 लोगों को छोड़े जाने की मांग को लेकर एसपी से मिला जाएगा। इस संबंध में एसपी को ज्ञापन दिया जाएगा। पंचायत के बाद गांव के करीब 100 से ज्यादा लोग बसों में सवार होकर पानीपत एसपी दफ्तर में ज्ञापन सौंपने के लिए लघु सचिवालय के सामने पहुंच गए ।जहां सुरक्षा के मद्देनजर भारी पुलिस तैनात की गई है।

 

वंही घटना के बाद से गांव में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। मुख्य आरोपी विकास घटना के बाद से फरार है। पुलिस अब पूरे मामले पर पैनी नजर बनाए हुए है।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

jind-pipe

देखें ऐसा क्या हुआ जब जींद अनाज मंडी बजने लगे पीपे

जींद (रोहताश भोला) । हरियाणा के जींद जिले में आढ़तियों और किसानो ने मिलकर अनोखा …

error: Content is protected !!