Home / Haryana / UPSC में टॉप करने वाली Chandrima Attri ने बताई सफलता के पीछे की कहानी

UPSC में टॉप करने वाली Chandrima Attri ने बताई सफलता के पीछे की कहानी

पानीपत (परवीन भारद्धाज)। कहते हैं इंसान के हौसले अगर बुलंद हो तो वह कोई भी बड़ी से बड़ी मंजिल हासिल कर लेता है ऐसा ही एक उदाहरण पानीपत की फ्रेंड्स कॉलोनी की रहने वाली चंद्रिमा अत्री ने देकर दिखाया है …जी हां हाल ही में आए सिविल सेवा परीक्षा के परिणामों में चंद्रमा अत्री ने 72 वा रैंक हासिल कर न सिर्फ अपने माता-पिता का नाम रोशन किया बल्कि पूरे पानीपत जिले समेत हरियाणा प्रदेश का नाम रोशन करने का काम किया है चंद्रिमा ने बताया कि उन्होंने यह सफलता दिल्ली में स्टडी करके हासिल की और उन्होंने चौथी बार एग्जाम देकर यह सफलता हासिल की है उन्होंने बताया कि सिविल सेवा परीक्षा को पास करने के लिए सबसे ज्यादा अभ्यर्थी में पेशेंस होने की जरूरत है क्योंकि जब एक दो बार में टेस्ट क्लियर नहीं होता है तो अभ्यर्थी तैयारी छोड़ देते हैं और डिमोटिवेट हो जाते हैं

Advertisements

चंद्रिमा अत्री ने बताया कि की पोस्टिंग के बाद उनका उद्देश्य पैसा कमाना नहीं बल्कि हर वर्ग की बेसिक जरूरतों पर वह काम करना चाहेंगी क्योंकि आज भी भारत देश में कुछ ऐसे लोग हैं जिन्हें पानी बिजली जैसी बेसिक जरूरतें भी नहीं मिल पा रही हैं उन्होंने बताया कि बेसिक जरूरत के बाद वह एजुकेशन पर काम करना चाहेंगी फिर उन्होंने बताया कि वह एक औरत होने के नाते वूमेन एंपावरमेंट पर भी काम करना चाहेंगी…

पेशे से व्यापारी और चंद्रमा अत्रि के पिता राजेश अत्री ने बताया कि चंद्रमा अत्री ने अपने दादा के सपने को पूरा करने का काम किया है उनके दादा की दिली तमन्ना थी कि उनकी बेटी आईएएस बनकर उनका नाम रोशन करें साथ ही उन्होंने बताया कि उन्हें उनकी बेटी पर बहुत गर्व है और बहुत खुशी महसूस हो रही है कि उन्होंने 72 वां रैंक हासिल किया उन्होंने कहा कि उन्हें जिस भी स्टेट में सेवा करने का मौका मिलेगी वहां के लोगों की दिल से सेवा करेंगी और हमारा और पूरे जिले का नाम रोशन करती रहेंगी वहीं राजेश अत्रि ने बताया कि उनके दादा भी हरियाणा सरकार में डीईटीसी पद पर तैनात थे

Advertisements

वही चंद्रिमा अत्रि की मां ने बताया कि आज उन्हें उनकी बेटी पर बहुत गर्व महसूस हो रहा है और उनकी आंखों से खुशी के आंसू रुक नहीं रहे हैं उन्होंने बताया कि चंद्रिमा का बचपन से सपना था कि वह एक आईएएस बनकर कुछ बड़ा काम करके दिखाएं वह बचपन से ही अपने दादा के सपने को जी रही थी क्योंकि उनके दादा का सपना था कि उनकी पोती चंद्रिमाअत्री आईएस बनकर लोगों की सेवा करें

आपको बता दें कि मूल रूप से चंद्रिमा अत्रि का परिवार करनाल के अरड़ाना गांव से रहने वाला है गांव में चंद्रमा अत्रि की सिलेक्शन की खबर मिलते ही गांव में भी खुशी का माहौल बना हुआ है

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

ranjita-mehta

किसानों को समर्थन देने ट्रैक्टर पर निकलीं कांग्रेस प्रवक्ता रंजीता मेहता

पंचकूला (उमंग श्योराण)। कांग्रेस प्रवक्ता रंजीता मेहता ने ट्रैक्टर चलाकर किसानों का समर्थन किया। पंचकूला …

error: Content is protected !!