Breaking News
Home / Chandigarh / चंडीगढ़ पीजीआई में कोरोना वायरस के संदिग्ध पीड़ित की जांच

चंडीगढ़ पीजीआई में कोरोना वायरस के संदिग्ध पीड़ित की जांच

चंडीगढ़,28जनवरी। चीन में कहर बरपा रहा कोरोना वायरस अब धीरे-धीरे दुनिया भर में पैर पसारते हुए भारत में भी आ पहुँचा है। भारत के तमाम शहरों मुंबई,हैदराबाद,बेंगलुरु, दिल्ली में कोरोना वायरस दस्तक दे चुका है । चीन से लौटे लोग कोरोंना वायरस लेकर आए है। इस बीच चंडीगढ़ पीजीआई में कोरोना वायरस के एक संदिग्ध मरीज को भर्ती किया गया है। मरीज एक युवक है ओर इसकी..उम्र 28 साल है । युवक पंजाब के मोहाली का रहने वाला है। युवक हाल ही में चीन से लौटा है। मरीज की स्थिति मंगलवार शाम तक सामान्य थी।

Advertisements

 

पीजीआई के इंटरनल मेडिसिन विभाग के अतिरिक्त प्रोफेसर विकास सूरी के अनुसार, मरीज संदिग्ध है हालांकि, अभी तक कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है। लक्षणों और ट्रैवल रिकॉर्ड को देखते हुए मरीज को तुरंत आइसोलेशन वाॅर्ड में रखा गया है। इसके साथ-साथ इसका परिवार को भी डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया है। करीब 28 साल का यह युवक खांसी-जुकाम व तेज बुखार से पीड़ित है। मरीज के सैंपल लेकर नेशनल वायरोलोजी इंस्टीट्यूट पुणे भेज दिए गए है। डाॅ विकास ने बताया कि मरीज चीन के वुहान से करीब 800 किलोमीटर के फासले पर मौजूद गंागजो रहे थे। इससे पहले 20 जनवरी तक बीजिंग में रहे। चोंगपिंग रहे और गांगजो गए। गांगजो से 22 जनवरी को भारत लौटे थे। युवक को 25जनवरी को हल्का बुखार हुआ था। बुखार ठीक होने के बाद दोबारा हो गया था। हल्की सर्दी जुकाम और छींकने के लक्षण थे। बाकी सारी जैविक मानक ठीक काम कर रहे थे।

 

स्वाइन फ्लू की टेस्टिंग तो पीजीआई में मौजूद है, लेकिन कोरोना वायरस की टेस्टिंग सिर्फ नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) में ही हो सकती है। टेस्टिंग के लिए सेंपल चंडीगढ़ से पैक कर फ्लाइट के जरिए एनआईवी भेजे गए है। बुधवार दोपहर तक पुणे से इसकी रिपोर्ट आ जाएगी। चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर भी थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है कि कही बाहर के देशों से होकर भारत आये लोग कोरोना वायरस से प्रभावित तो नहीं है। खासकर, डॉक्टरों की टीम चीन से आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग कर रही है। चीन में अबतक घातक कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 106 हो गई है और 2,700 से अधिक लोग इससे प्रभावित हैं और करीब 1300 नए मामलों की पहचान की गई है।

Advertisements

 

कोरोना वायरस जानवरों में पाया जाने वाला काॅमन वायरस है।खासकर यह सांप और चमगादड़ में ज्यादा पाया जाता है। यह जानवरों से इंसानों में फैलता है। बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस सांप और चमगादड़ के द्वारा लोगों में फैला है। इसकी शुरुआत चीन से हुई है क्योंकि यहाँ के लोग सांप और चमगादड़ को खातें हैं और यह भारत इसलिए आ गया क्योंकि चीन में जो भारतीय रहते हैं वह भारत लौटें हैं उन्ही के द्वारा यह यहाँ फैला है । कोरोना वायरस के मरीजों में जुखाम, खांसी, गले में दर्द, सांस लेने में दिक्कत, बुखार जैसे शुरुआती लक्षण देखे जाते हैं। इसके बाद ये लक्षण न्यूमोनिया में बदल जाते हैं और किडनी को नुकसान पहुंचाते हैं। फेफड़े में गंभीर किस्म का संक्रमण हो जाता है।

 

चंडीगढ पीजीआई के निदेशक डाॅ जगतराम ने मंगलवार को मीडिया को बताया कि आकस्मिकता के मद्देनजर आईसोलेशन वार्ड बनाया गया है। इस मामले में 23 जनवरी को एक बैठक कर इंतजाम किए गए है। लेकिन पंजाब,हरियाणा,हिमाचल,उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड के मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर कहा गया है कि वे कोरोना वायरस के संदिग्ध पीडितों को अपने प्रदेशों के अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड बनाकर ही रखें। इससे इन प्रदेशों के संदिग्ध एक साथ पीजीआई में जमा नहीं होंगे और इससे अनावश्यक भय से भी बचा जा सकेगा। डाॅ विकास सूरी ने बताया कि कोरोना वायरस की जांच के लिए भारत सरकार ने पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलाॅजी को ही नामित किया है। इस इंस्टीट्यूट में प्रत्येक राज्य से चार-पांच नमूने जांच के लिए रोजाना पहुच रहे है। अभी स्वाइन फ्लू मौसम से बाहर नहीं निकले हैं इसलिए स्वाइन फ्लू के नजरिए से भी जांच की जा रही है।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

PM-MODI-BIRTHDAY

चंडीगढ़ में पीएम मोदी के जन्मदिन पर NSUI स्टूडेंटस ने सेक्टर-17 में बैठकर किया बूट पॉलिश

चंडीगढ़। पंजाब यूनिवर्सिटी के NSUI टीम की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन आज …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!