Home / Haryana / लगातार डीजल के दामों में बढोतरी को लेकर भारतीय किसान यूनियन का विरोध प्रदर्शन

लगातार डीजल के दामों में बढोतरी को लेकर भारतीय किसान यूनियन का विरोध प्रदर्शन

टोहाना (नवल सिंह) । डांगरा रोड़ स्थित किसान विश्राम ग्रह में भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले किसानों की बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष जोगिंद्र घासी राम नैन ने विशेष रूप से शिरकत की, बैठक में क्षेत्र के दर्जन भर से अधिक किसानों ने भाग लिया। इस दौरान किसानों ने रणनीति बनाते हुए सरकार से डीजल के दामों में बढोतरी को वापिस लेने के लिए एसडीएम को सरकार के नाम ज्ञापन दिया गया। किसानों ने कहा कि सरकार ने उनकी मंागें नही मानी तो जिलास्तर पर बैठकें कर रणनीति बनाई जाएगी ताकि सरकार का विरोध किया जा सके।

Advertisements

 

किसान विश्राम ग्रह में हुई बैठक में किसानों ने कहा कि सरकार ने कोरोना की आड में 3 महीने में 16 रूपयें डीजल के दाम में बढोतरीकी है जिससे सानों का कर्ज बढ रहा है, सरकार को किसानों की दशा को देखते हुए इस फैसले को वापिस लेना चाहिए, कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य अध्यादेश 2020 को वापिस लिया जाए, इस अध्यादेश से हर राज्य में मार्किट कमेटी की अनाज मंडीयों का दायरा सिमित कर दिया है और बेशुमार पूंजी पत्तियों की मुनाफा खोर कम्पनीयों के हित स्वार्थ में प्राईवेट अनाज मंडीयां खोलने की अनुमति दे दी है। एक देश एक बाजार के नारे के साथ सरकार की यह दलील बिल्कुल भ्रामंक व घोखा धडी पुर्ण है कि कृषि मंडी बाजार को प्राईवेट हाथो में देने से किसानो की आमदनी दोगुनी होना भी जुमला है। उन्होंने कहा कि मुल्य आसवासन और कृषि सेवा पर किसान समझोता अध्यादेश वापिस लिया जावे, आवश्यक वस्तु संशोधन अध्यादेश वापीस लिया जावे।

 

प्रदेशाध्यक्ष जोगिंद्र घासीराम नैन ने बताया कि सरकार द्वारा लगातार डीजल में की जा रही बढोतरी के खिलाफ किसान एकजुट हुए है, उन्होंने बताया कि सरकार की डीजल बढोरी से किसानो के अच्छे दिन की बजाय बुरे दिन आ गए है। मोदी सरकार किसानों की आय 2022 तक दोगुना करने का दावा कर रही है लेकिन किसानों की आय डीजल के दामों में बढोतरी से दोगुनी नही ओर भी कम हो जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार ने उनकी मांगे नही मानी तो किसानों की जिलास्तर बैठके कर सरकार के विरोध में नीति बनाई जाएगी।

Advertisements
Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

jind-pipe

देखें ऐसा क्या हुआ जब जींद अनाज मंडी बजने लगे पीपे

जींद (रोहताश भोला) । हरियाणा के जींद जिले में आढ़तियों और किसानो ने मिलकर अनोखा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!