Home / Chandigarh / हरियाणा के वरिष्ठ आईएएस खेमका का फिर छलका दर्द,मुख्यमंत्री को लिखा पत्र,क्या मिल पायेगा न्याय?

हरियाणा के वरिष्ठ आईएएस खेमका का फिर छलका दर्द,मुख्यमंत्री को लिखा पत्र,क्या मिल पायेगा न्याय?

चंडीगढ,13दिसम्बर। व्हिसल ब्लोअर की तर्ज पर सरकारी सेवा करने वाले हरियाणा कैडर के वरिष्ठ आईएएस अशोक खेमका एक बार फिर सुर्खियों में आए है। हमेशा की तरह उनका दर्द इस बार भी तबादले से जुडा है। अपनी 28 साल की सेवा में 53 बार तबादला झेलने वाले खेमका ने हाल में भाजपा-जजपा गठबंन्धन सरकार द्वारा किए गए तबादले को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल को पत्र लिखा है। लेकिन इसके साथ ही यह सवाल भी उठ खडा हुआ है कि क्या मुख्यमंत्री मनोहर लाल से खेमका को कोई राहत मिलेगी?

Advertisements

 

पिछली भाजपा सरकार में भी खेमका के काफी कम महत्व के पदों पर तबादले किए गए थे। अब जब भाजपा ने लगातार दूसरी बार जजपा के साथ गठबंधन कर प्रदेश में सरकार बनाई है तो फिर खेमका को वही शिकायत है। पिछली भाजपा सरकार में खेमका एकमात्र खेल एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के चहेते थे। विज ने जब खेमका की एसीआर में पूरे दस अंक दे दिए थे तो मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने यह रिपोर्ट अपने पास पहुंचने पर अंक घटा दिए थे। अब खेमका ने अपने तबादले को लेकर अगर मुख्यमंत्री मनोहर लाल को पत्र लिखा है तो वे क्या राहत पा सकते हैं?

 

खेमका तब एक व्हिसल ब्लोअर के रूप में सामने आए थे जबकि वर्ष 2009 से 2014 तक हरियाणा में रही भूपेन्द्र सिंह हुड््डा के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार के दौरान चकबंदी महानिदेशक के पद पर रहते हुए उन्होंने राबर्ट वाड्ा और रीयल एस्टेट कम्पनी के बीच हुए जमीन सौदे में जमीन का इन्तकाल रोक दिया था। इसके बाद खेमका को कम महत्व के पदों पर स्थानान्तरित करने का सिलसिला भी शुरू किया गया था। इसके बाद उनके खिलाफ कई मामलों में जांच भी शुरू की गई थी। गेल वाॅल्यूम शीट खरीद का मामला भी उनमें से एक था।

Advertisements

 

ये भी पढ़ें :- प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पिंजौर में लगा शिविर

ताजा मामला खेमका के पिछले नवम्बर माह में किए गए तबादले का है। इस तबादले में खेमका को पुराभिलेख,पुरातत्व और संग्रहालय विभाग का प्रधान सचिव बनाया गया है। हुड्डा सरकार ने भी खेमका को इस पद पर तैनात किया था। इसी साल मार्च में खेमका को युवा एवं खेल विभाग से विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी विभाग में भेजा गया था। अब कम महत्व के पदों पर तबादलों से परेशान खेमका ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को भेजे पत्र में परेशान करने वाली बात भी उठा दी है। खेमका ने मुख्यमंत्री से प्रदेश में व्याप्त भ्रष्टाचार के मामले प्रधानमंत्री तक पहुंचाने की इजाजत मांगी है। अब हरियाणा में पिछले पांच साल तो भाजपा की ही सरकार थी और अब लगातार दूसरे कार्यकाल में भी भाजपा ही सरकार का नेतृत्व कर रही है तो जाहिर है कि खेमका का इशारा भाजपा सरकार के दौरान हुए भ्रष्टाचार की ओर ही है। इस तरह खेमका फिर अपनी व्हिसल ब्लोअर भूमिका में आ गए है।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

Dy. CM Dushyant Chautala file photo.

बरकरार रहेगा किसानों का एमएसपी का अधिकार, कोई आंच आई तो छोड़ दूंगा पद – दुष्यंत चौटाला

चंडीगढ़। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि केंद्र सरकार के कृषि संबंधित नए अध्यादेशों में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!