Home / Haryana / लाठीचार्ज के बाद भाकियू ने दी संसद कूच की धमकी,कहा – सब राजनीतिक पार्टियां एक ढाल

लाठीचार्ज के बाद भाकियू ने दी संसद कूच की धमकी,कहा – सब राजनीतिक पार्टियां एक ढाल

जींद (रोहताश भोला)। हरियाणा के कुरुक्षेत्र में किसानो पर हुए लाठीचार्ज के बाद भारतीय किसान यूनियन ने संसद कूच की धमकी दी है | आज हरियाणा के जींद जिले में भारतीय किसान यूनियन की बैठक के बाद ये फैसला लिया गया की केंद्र सरकार तीन अध्यादेशों की बजाय फसल पर MSP और भुगतान की गारंटी का कानून आगामी संसद के सत्र में पास होना चाहिए| नहीं तो किसान बड़े आंदोलन करने को मजबूर होंगे | बीकेयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रामफल कंडेला ने कहा की 50 किसान हरियाणा से 50 किसान उत्तर प्रदेश से और 50 पंजाब से संसद तक कूच करेंगे अगर रोकने की कोशिश की तो किसान गिरफ्तारियां देंगे | हालांकि अब विरोध स्वरूप हरियाणा से 5 लाख पत्र पीएम नरेंद्र मोदी को लिखे जाएंगे जिनमे लिखा जाएगा की किसानो को कंपनी राज नहीं बल्कि MSP और भुगतान की गारंटी चाहिए |

Advertisements

आज बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए किसान नेता रामफल कंडेला ने कहा की कल कुरुक्षेत्र में हुई बर्बरता की किसान निंदा करते है | किसान तीनो कृषि अध्यादेशों की खिलाफत करते है | किसानो को कंपनी राज नहीं चाहिए बल्कि सुरक्षा के लिए MSP यानी न्यूनतम समर्थन मूल्य और किसानो की फसल की गारंटी का कानून चाहिए | लेकिन इन अध्यादेशों पर कृषि मंत्री, खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री और हरियाणा के बीजेपी अध्यक्ष बढ़ा चढ़ा कर बाते करते है लेकिन असल में किसानो को बरगलाने का काम कर रहे है |

 

कंडेला ने ने सरकार को चेतवानी देते हुए कहा की सरकार कोरोना के बहाने अगर धारा 144 का फायदा उठाकर किसानो को दबाना चाहती है तो सरकार गलतफहमी में न रहे क्योंकि किसान पीछे नहीं हटने वाले है | उन्होंने कहा की सरकार जितने मर्जी चाहे मुकदमे बना ले हमे कोई फर्क नहीं | हमे सरकार गांरटी दे की किसानो की फसल का भुगतान और न्यूनतम समर्थन मूल्य कम्पनिया देगी और उनकी जावदेहि तय करे तो किसान भी राहत महसूस करेंगे| क्योंकि कम्पनिया अगर फसल लेकर भाग गई तो उनका जिम्मेद्वार कौन होगा | उन्होंने कहा की हम नहीं चाहते की कोरोना के नियम टूटे लेकिन हम मजबूर होकर कदम उठाएंगे|

Advertisements

कंडेला ने कहा की सरकार किसानो को भरोसे में लेकर काम करे नहीं तो बड़ा आंदोलन शुरू करेंगे | उन्होंने बताया की कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग में कम्पनिया MSP की बजाय मौजूदा मूल्य पर फसल खरीद के लिए कॉन्ट्रैक्ट करेगी जिसमे किसानो को बड़ा नुकसान होगा | ऐसे में बिना MSP को जरुरी बनाये जाने के बिना किसानो को कोई फायदा नहीं होगा |

 

कंडेला ने कहा की आगामी संसद के सत्र में 50 किसान हरियाणा से, 50 उत्तर प्रदेश से और 50 पंजाब से दिल्ली संसद के लिए कूच करेंगे | अगर सरकार ने रोकने की कोशिश की तो सब किसान गिरफ्तारियां देंगे | उन्होंने कहा की ये कूच तीन अध्यादेशों के खिलाफ और MSP तथा भुगतान की गारंटी कानून पास करवाने की मांग को लेकर किया जाएगा

किसान नेता छज्जू राम कंडेला ने कहा की कल किसानो पर हुए लाठीचार्ज की किसान निंदा करते है और इसके लिए प्रदेश से 5 लाख लैटर लिखे जाएंगे |

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

GURNAM-SINGH-HARYANA-GOVT

गुरनाम सिंह चढूनी की चेतावनी- या तो सरकार फैसला वापस ले या किसानों को गोली मार दे।

पंचकूला। केंद्र सरकार द्वारा लाए जा रहे कृषि अध्यादेश के खिलाफ आज हरियाणा सहित पूरे …

error: Content is protected !!