Home / Haryana / राष्ट्र संत वाचनाचार्य श्री मनोहर मुनि जी महाराज की 93वीं जन्म जयन्ती

राष्ट्र संत वाचनाचार्य श्री मनोहर मुनि जी महाराज की 93वीं जन्म जयन्ती

इंद्री 1 अगस्त (मैनपाल कश्यप ) : राष्ट्र संत वाचनाचार्य श्री मनोहर मुनि जी महाराज की 93वीं जन्म जयन्ती पर गुरु गुणगान कार्यक्रम श्रद्धा-भक्तिपूर्वक आराधना जैन मंदिर के प्रांगण में आयोजित हुआ।
रानी जैन, पवन जैन, कृष्ण जैन, नवीन जैन ने भावपूर्ण शब्दों से गुरु महिमा गाते हुए गुरुजी के गुणों स्वाध्याय, संयम, समन्वय, सहनशीलता तथा समभाव से सभी को प्रेरणा लेने का संदेश दिया।
उपप्रवर्तक श्री पीयूष मुनि जी महाराज ने कहा कि राष्ट्र संत वाचनाचार्य श्री मनोहर मुनि जी महाराज महापुरुषों की मणिमाला के भव्य सुमेरू थे जो जप-तप के महान साधक, साधना पथ के सजग प्रहरी, महान प्रवचनकार, उत्कृष्ट साहित्यकार, आशु कवि, सिद्धहस्त लेखक, अहिंसा एवं सत्य धर्म के प्रचारक, सर्व धर्म समन्वय द्वारा समाज में सौहार्द और सद्भाव की प्रतिष्ठा के लिए सदैव सक्रियता पूर्वक क्रियाशील थे। आपका आत्मिक बल अनुपम था और आप महामानव, अतिमानव, सच्चे हितैषी तथा प्राणीमात्र के हित के लिए सचेष्ट थे। आपके आशीर्वाद से भक्तजनों के प्रतिकूल ग्रह, नक्षत्र और राशियां अनुकूल हो जाते थे। दूसरों के भाग्य की लकीरें बदलने की अपूर्व शक्ति आपके पास थी। करनाल नगर को आप की साधना स्थली होने का गौरव प्राप्त है, जहां आपकी सद्प्रेरणा से विद्यालय, मोबाइल डिस्पैंसरी, अध्यात्म साधना केंद्र, मनोकामनापूरक सिद्धपीठ स्थापित है और जल्दी ही चैरिटेबल डायग्नोस्टिक सैन्टर गुरुकृपा से शुरू होगा जिसे मल्टी स्पैशलिटी हस्पताल के रूप में विकसित किया जाएगा।
इस सुअवसर पर इन्द्री रोड़ पर विशाल भण्डारा लगाया गया, जिसमें हजारों लोगों ने देर शाम तक कढ़ी चावल, सब्जी पूरी तथा हलवे का प्रसाद ग्रहण किया। लंगर सेवा में भारी संख्या में श्रद्धालुओं ने अपना सहयोग उदारतापूर्वक दिया।
Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

jind-pipe

देखें ऐसा क्या हुआ जब जींद अनाज मंडी बजने लगे पीपे

जींद (रोहताश भोला) । हरियाणा के जींद जिले में आढ़तियों और किसानो ने मिलकर अनोखा …

error: Content is protected !!