Home / Punjab / कोविड से निपटने के लिए राज्य की 6 जेलों को विशेष जेलों में बदला गया – रंधावा

कोविड से निपटने के लिए राज्य की 6 जेलों को विशेष जेलों में बदला गया – रंधावा

चंडीगढ़, 1 अगस्तः कोविड-19 महामारी के चलते किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पंजाब सरकार द्वारा नये कैदियों के लिए 6 जेलों को विशेष जेलों में तबदील कर दिया गया है। इसके साथ ही दो अन्य जेलों को कोविड के मरीज कैदियों के इलाज के लिए स्तर-1 कोविड केयर सैंटर के तौर पर घोषित कर दिया गया है। यह खुलासा जेल मंत्री स. सुखजिन्दर सिंह रंधावा ने आज यहाँ जारी प्रैस बयान के द्वारा किया।

Advertisements

स. रंधावा ने बताया कि कोरोना महामारी के खिलाफ पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा ‘मिशन फतह’ मुहिम के अंतर्गत जेल विभाग ने भी पूरी कमर कसी हुई है। उन्होंने कहा कि पंजाब में छह जेलों को नये कैदियों के लिए एकांतवास जेलों में तबदील किया गया है। पहले पड़ाव में बरनाला और पट्टी जेल को एकांतवास जेलों में तबदील किया गया था। कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए बठिंडा, पठानकोट, लुधियाना और महिला जेल लुधियाना को विशेष जेल घोषित करते हुए नये कैदियों के एकांतवास के लिए आरक्षित रख दिया है।

जेल मंत्री ने विस्तार में जानकारी देते हुए बताया कि हर नये कैदी को पहला इन जेलों में भेजा जाता है जहाँ इनकी पूरी स्क्रीनिंग के बाद 14 दिनों के एकांतवास पर रखा जाता है। इसके बाद टेस्टिंग करवाने के उपरांत ठीक पाए जाने वाले कैदियों को संगरूर जेल भेजा जाता है जहाँ उनको एहतियात के तौर पर 14 दिन और एकांतवास पर रखा जाता है। इसके उपरांत ठीक कैदियों को बाकी जेलों में क्षमता के अनुसार शिफ्ट किया जाता है।

जेल मंत्री स. रंधावा ने बताया कि पंजाब की कुल 25 जेलों में इस समय पर 23,500 कैदियों की क्षमता है और 17,000 कैदी जेलों में हैं। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों पर जेलों में सामाजिक दूरी के पालन को यकीनी बनाने के लिए उच्च ताकती समिति के फैसले के बाद मार्च से लेकर अब तक 11,500 कैदियों को पैरोल पर छोड़ा गया है। पंजाब सरकार ने अच्छे आचरण वाले कैदियों के लिए बनाए ऐक्ट में संशोधन करके अधिक से अधिक पैरोल का समय भी 16 हफ्ते से बढ़ा दिया था। उन्होंने कहा कि 17,000 कैदियों में से 9000 कैदियों का कोविड टैस्ट करवाया जा चुका है जिनमें से 150 कैदी अब तक कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं। इन कैदियों को इलाज के लिए गुरदासपुर और मालेरकोटला जेलों में शिफ्ट किया जा रहा है जिनको जेल विभाग ने स्तर-1 कोविड केयर सैंटर में तबदील किया हुआ है।

Advertisements
whatsapp-hindxpress
Advertisements

Check Also

cm punjab lockdon

CM अमरिंदर सिंह बोले -अब बहुत हो चुका,विवाह और अंतिम संस्कार की रस्मों को छोड़ सभी कार्यक्रमों पर रोक

चंडीगढ़, 20 अगस्त: राज्य में बड़े स्तर पर बढ़ रहे कोविड के मामलों से निपटने …

error: Content is protected !!