हरियाणा

किसान संगठन अपनी मांगों को लेकर सीएम हाउस का घेराव के लिए निकले

किसान संगठन अपनी मांगों को लेकर सीएम हाउस का घेराव के लिए निकले

हरियाणा के कई जिलों से किसान संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर पंचकूला के गुरुद्वारा श्री नाडा साहिब में भारी संख्या में एकत्रित होकर किसान विभिन्न मांगों को लेकर सोमवार को पंचकूला से चंडीगढ़ सीएम हाउस के घेराव निकले ।

पंचकूला पुलिस द्वारा सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए करीब 1200 पुलिसकर्मियों को सुरक्षा में लगाया गया। पुलिस ने विभिन्न जगहों पर नाकेबंदी की गई। किसानों की मुख्य मांगे है कि देह शामलात, जुमला मुस्तका, पट्टे वाली व अन्य इस प्रकार की सभी जमीनों को किसानों को पक्के तौर पर मालिकाना हक देने के लिए नया कानून बनाया जाए।

धान के बोने पौधे रहने की वजह से किसानों को हुए नुकसान का पूरे हरियाणा में उचित मुआवजा दिया जाए। 2022 में जलभराव से खराब हुई फसलों की स्पेशल गिरदावरी करवाकर उचित मुआवजा दिया जाए और पिछले साल के फसल मुआवजा का जल्दी से जल्दी किसानों के खातों में भुगतान किया जाए।

 

SKM किसानों की मांग

लंपी वायरस से पशुओं में फैली महामारी के कारण किसानों के मरे हुए पशुओं के लिए उचित मुआवजा दिया जाए और जरूरी कदम सरकार द्वारा उठाए जाए। नारायण गढ़ शुगर मिल के करीब 60 करोड़ बकाया राशि का भुगतान जल्दी से जल्दी किया जाए। धान की फसल में मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर रजिस्टर्ड फसल की प्रति एकड़ लिमिट 25 से बढ़ाकर 35 कुंटल की जाए और 20 सितंबर से धान की खरीद पूरे हरियाणा में शुरू की जाए। सरकार द्वारा मोटे धान पर 20 प्रतिशत एक्सपोर्ट ड्यूटी लगाई गई है उसको खत्म किया जाए। लंबित ट्यूबवेल कनेक्शन किसानों को जल्दी से जल्दी दिए जाए।

Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button