Home BREAKING किसानों की मौत पर जनता के पैसों से सरकार मना रही है...

किसानों की मौत पर जनता के पैसों से सरकार मना रही है जश्न-भगवंत मान

11
0

चंडीगढ़, 4 फरवरी 2019 : आम आदमी पार्टी ने कर्जमाफी प्रमाण-पत्र वितरण कार्यक्रमों में कैप्टन सरकार की ओर से किये जा रहे अनाप-शनाप खर्च को किसानों की मौत पर जनता के पैसों से जश्न करार दिया है।

आम आदमी पार्टी पंजाब के अध्यक्ष एवं सांसद भगवंत मान ने ब्यान जारी कर कहा है कि पंजाब सरकार की किसान कर्जमाफी योजना पूर्ण तौर पर वफल साबित हुई है। सरकार अपनी इस विफलता को छिपाने के लिये झूठे प्रचार का सहारा ले रही है और वह जनता की खून-पसीने की कमाई को जश्नों पर खर्च कर रही है।

उन्होंने कहा कि कर्जमाफी प्रमाण पत्र वितरण कार्यक्रमों में लाखों रूपये खर्च किये जा रहे हैं। बठिंडा में आयोजित कार्यक्रम में 11 लाख रूपये खर्च करने के बात सामने आई है। जहां 11 हजार लोगों के लिए नाश्ता और मिनरल वाटर का इंतजाम जनता के पैसों से किया गया था। वाटर और बुलट प्रुफ टैंट बनाया गया। हजारों पुलिसकर्मियों की ड्यूटी आयोजन स्थल पर लगाई गई। इसी तरह पैसों की बर्बादी अन्य जगह आयोजित कार्यक्रमों में की गई। मान ने कहा कि ऐसे ही कैप्टन सरकार ने कर्जमाफी के संबंध में आयोजित किए एक समागम में पंजाब के एक प्रसिद्ध गायक को बुला कर पंजाब की जनता के खून-पसीने की कमाई को बर्बाद किया, जबकि चाहिए यह था कि कैप्टन को एक गायक पर लाखों रूपए खर्च करने की बजाए किसानों के सर चढ़े भारी कर्जे को माफ करने में पैसा ख्रर्च करते न कि एक गायक को बुला कर ड्रामेबाजी करते।

सांसद मान ने कहा कि इस राशि को कांग्रेस सरकार ईमानदारी के साथ किसानों में कर्जमाफी के रूप में बांटती तो पंजाब में किसानों के सामने आत्महत्या करने जैसी नौबत नहीं आती। कैप्टन सरकार के कार्यकाल में अब तक करीब 430 किसान कर्ज के चलते आत्महत्या कर चुके हैं। दूसरी तरफ सरकार जश्न मना रही है। यह स्थिति सरकार के लिए शर्मनाक है और इसकी जितनी निंदा की जाये उतनी ही कम है। इसके लिए मुख्यमंत्री को जनता से सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए। आम आदमी पार्टी एक मात्र ऐसी पार्टी है जो ईमानदारी के साथ किसानों के साथ है। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार की कर्जमाफी योजना में खामियों को आम आदमी पार्टी जनता के बीच ले जाकर सरकार को बेनकाब करती रहेगी।

भगवंत मान ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने चुनाव मैनीफैस्टो में पंजाब के किसानां व अन्यों के साथ वायदा किया था कि उन पर चढ़ा कर्ज भले वह आढ़तियों का हो, बैंक का हो वह पूर्ण तौर पर माफ किया जाएगा, परन्तु अफसोस कैप्टन सरकार को करीब 2 वर्ष हो चुके हैं पंजाब की सत्ता को संभाले अभी तक पंजाब के किसानों व अन्यों के सर करीब 1 लाख करोड़ रुपए का कर्ज पूर्ण तौर पर माफ नहीं किया। हां कैप्टन सरकार इतना जरूर कर रही है कि कर्जमाफी के समागमों में फजूल खर्ची कर और किसानों को समागमों में बुला कर उनको जलील कर रही है।