Home HIMACHAL यहाँ होती है दीपावली के दूसरे दिन पत्थरों की बरसात – देखें...

यहाँ होती है दीपावली के दूसरे दिन पत्थरों की बरसात – देखें वीडियो

36
0

शिमला, 10 नवंबर : बहुत से अनोखे त्यौहारों, मेलों और खेलों के बारे में अकसर अपने सुना होगा। एक ऐसे ही अनोखे मेले के बारे में हम आपको बताने ही नहीं बल्कि दिखाने भी जा रहे हैं जिसे देखकर आप भी सोच में पड़ जाएंगे कि आखिर यह कैसा खेल है जिसमें इंसान लहूलुहान भी हो जाए। हम बात कर रहे हैं हिमाचल की राजधानी शिमला से करीब 30 किलोमीटर दूर हलोग धामी की जहाँ पत्थरों का एक अनोखा मेला होता है। सदियों से मनाए जा रहे इस मेले को पत्थर का मेला कहा जाता है।

दीपावली से दूसरे दिन मनाए जाने वाले इस मेले में दो समुदायों के बीच पत्थरों की जमकर बरसात होती है। ये तब तक जारी रहती है जब तक कि एक पक्ष लहूलुहान न हो जाए। जिसे देखकर हर कोई हैरान रह जाता है। सैंकड़ो की संख्या में लोग पत्थर के इस खेल में शामिल होते है। वहीं धामी रियासत के राजा पूरे शाही अंदाज में मेले वाले स्थान पर पहुंचते है।

हर वर्ष की तरह इस बार भी यह मेला लगा और हजारों की संख्या में लोग हलोग धामी खेल मैदान में इकठ्ठा हुए। धामी रियासत के राजा जगदीप सिंह पूरे शाही अंदाज में मेले में पहुंचे। शाम करीब 4 बजे मेला शुरू हुआ और दोनों और से पत्थरों की बारिश होने लगी इसी बीच धमेड़ (धामी) की ओर से टीम में शामिल कनोड़ी के सुरेश शर्मा (धमेड़ टीम) के सिर पर पत्थर लगने पर पत्थरबाजी बंद करने का इशारा हुआ। खून का तिलक माता के मंदिर में बने चबूतरे में लगाया गया और माता का आशीर्वाद लिया गया। बता दें पत्थरबाजी का सिलसिला करीब अाधे घंटे तक चला।