Home HARYANA हरियाणा कर्मचारी महासंघ का बड़ा फैसला, प्रदेश की जनता पर पड़ सकता...

हरियाणा कर्मचारी महासंघ का बड़ा फैसला, प्रदेश की जनता पर पड़ सकता है भारी

215
0

रेवाड़ी 21 अक्टूबर : रोडवेज कर्मचारियों द्वारा पिछले 6 दिनों से जारी प्रदेशव्यापी हड़ताल के चलते जहां परिवहन व्यवस्था बुरी तरह चरमरा चुकी है। वहीं हरियाणा कर्मचारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष ने आज बड़ा बयान देकर सरकार की चूलें हिलाने का काम कर दिया है। महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष कंवर सिंह यादव ने सरकार को चेतावनी दी है कि अगर आज रात से पहले सरकार ने तालमेल कमेटी के नेताओं को बुलाकर 720 प्राइवेट बसों को परमिट देने का फैसला नहीं बदला तो आज रात 10 बजे से ही महासंघ से संबंधित सभी विभागों के कर्मचारी संगठन अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे और यह हड़ताल तब तक जारी रहेगी, जब तक मुख्यमंत्री तालमेल कमेटी को बुलाकर उनकी मांग नहीं मान लेते।

पत्रकारों से बातचीत में कंवर सिंह यादव ने कहा कि रोडवेज कर्मचारियों की कोई आर्थिक मांग नहीं है। वे सिर्फ परिवहन बेड़े को बचाने के लिए अपनी नौकरी को दांव पर लगाकर जनता के लिये सरकार से लड़ाई लड़ रहे हैं। मगर सरकार ने एस्मा जैसा काला कानून लगाकर कर्मचारियों के आंदोलन को कुचलने का काम किया है, जिसे महासंघ किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगा।

उन्होंने कहा कि पिछले 6 दिनों से कर्मचारी हड़ताल पर हैं, लेकिन सरकार है कि उनकी जायज मांगों को मानने को तैयार ही नहीं है। उल्टा तानाशाही रवैया अपना रही है। मगर महासंघ अब चुप नहीं बैठेगा और सरकार के इस तानाशाह रवैया का मुंहतोड़ जवाब देगा। साथ ही उन्होंने तालमेल कमेटी को हर कदम पर साथ खड़े रहने का भी आश्वासन दिया।

वहीं आज के धरने को कांग्रेस पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता वंदना पॉपली के अलावा विभिन्न विभागों की यूनियनों ने भी अपना समर्थन दिया। मगर कुछ भी हो इस हड़ताल के कारण बिजली, पानी और सीवरेज जैसी मूलभूत सुविधाओं के लिए लोगों को जरूर दो चार होना पड़ सकता है, जिसके लिए अब आम लोगों को भी तैयार रहने की जरूरत है।

अब देखना होगा कि महासंघ के इस बड़े फैसले के बाद क्या खट्टर सरकार अपना फैसला बदलती है या फिर महासंघ के आह्वान पर शुरू होने जा रहा यह महाआंदोलन कोई बड़ा रूप लेगा।