Home Uncategorized फतेहपुर की जनता को समस्याओं मे छोड कहाँ चले गए मोदी के...

फतेहपुर की जनता को समस्याओं मे छोड कहाँ चले गए मोदी के दूत – राजन सुशांत

9
0

इंदौरा, 15 अक्तूबर(गगन ललगोत्रा): जिला कांगड़ा की सवसे बडी तहसील फतेहपुर मे तहसीलदार के खाली पद को भरने के अल्टीमेटम की मियाद खत्म होने के बाद पूर्व सांसद डाक्टर राजन सुशांत सोमवार को सांकेतिक धरने पर बैठ गए। डाक्टर राजन ने एसडीएम फतेहपुर को सौंपे ज्ञापन में खाली पद को भरने के लिए 15 दिन का समय दिया था। बता दें, पूर्व सांसद ने फिर से प्रशासन को 23 अक्टूबर तक का समय दिया है,अगर 22 अक्तूबर तक खाली पद पर भर्ती नहीं हुई तो फिर से धरना दिया जाएगा।


डॉ राजन ने प्रशासन को पहले ही तहसील कार्यालय में धरना प्रदर्शन करने की चेतावनी दी थी। राजन सुशांत ने कहा कि पिछले एक साल से फतेहपुर में तहसीलदार नहीं है। जिस तहसीलदार की नियुक्ति हुई, उनका 36 घंटे में ट्रांसफर हो गया। वहीं इस धरने को शिवसेना केसरिया के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रमेश दत्त कालिया ने भी समर्थन दिया है।

उन्होंने प्रदेश सरकार पर फतेहपुर विधानसभा के साथ भेदभाव का अरोप लगाते हुए कहा कि लोगों को लोन लेने में परेशानी हो रही है। जमीन की रजिस्ट्रियां रुकी हुई हैं। सरकार की सहायता राशि तहसीलदार के न होने से रुकी हुई है। वहीं, राजन सुशांत ने बीजेपी के प्रदेश महामंत्री कृपाल परमार का नाम लिए बिना कहा कि जो कहते थे कि मोदी से सीधे संबंध हैं, वो आज कहा गए हैं। क्या यह एक राजनीतिक स्टंट था। आज वो चुप क्यों हैं। वो जानबूझ कर फतेहपुर को अब नजर अंदाज कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जो अपने आप को मोदी का दूत बताते थे, वो जनता के सामने माफी मांगे। उन्होने उक्त भाजपा नेता पर तंज कसते हुए कहा की, फतेहपुर की जनता को समस्याओं मे छोड कर अब कंहा चले गये मोदी के दूत ।इस मौका पर सैंकडो लोग मौजूद रहे ।