Home BREAKING कांग्रेस 23 मई को सरकार गठन के लिए विपक्षी दलों से वार्ता...

कांग्रेस 23 मई को सरकार गठन के लिए विपक्षी दलों से वार्ता शुरू करेगी

8
0

चंडीगढ,5मई। कांग्रेस आगामी 23 मई को लोकसभा चुनावों के परिणाम आते ही केन्द्र में सरकार गठन के लिए अन्य विपक्षी दलों से वार्ता शुरू करेगी। राज्यसभा में कांग्रेस के उपनेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री आनन्द शर्मा ने रविवार को यहां यह दावा किया।

आनन्द शर्मा ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस बडी राष्ट्रीय पार्टी है इसलिए वह सरकार गठन की पहल करेगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर देश में बटवारा चाहते है। देश के वीर जवानों की शहादत पर वोट मांगे जा रहे है। प्रधानमंत्री बताए कि उन्होंने पिछले पांच साल में क्या किया?उन्होंने अच्छे दिन लाने का वायदा भर किया है। मोदी के चुनावी वायदों को लोग देख चुके है और इसलिए 23 मई को उनकी विदाई तय है। उन्होंने कहा कि मोदी देश में उन्माद फैलाना चाहते हैं और 2014 की तरह मतदाताओं को गुमराह करना चाहते है। आज लोग महसूस कर रहे है कि उनके साथ धोखा किया गया था। आज पिछले 45 सालों में सबसे ज्यादा बेरोजगारी है।

उन्होंने कहा कि देश के गरीब के साथ पांच साल अन्याय हुआ था इसलिए कांग्रेस अपने घोषणापत्र में न्याय योजना लाई है। इसके तहत पांच करोड गरीब परिवारों को सालाना 72 हजार रूपए दिए जायेंगे। परिवार की महिला के खाते में यह राशि दी जायेगी। देश की अर्थव्यवस्था में गरीब परिवारों को सालाना यह राशि दिए जाने की गुजाइश है। किसान को कर्ज मुक्त किया जाएगा और किसान बजट अलग से लाया जाएगा। शिक्षा पर देश के सकल घरेलू उत्पाद का 6 फीसदी खर्च किया जाएगा। शर्मा ने कहा कि मोदी सरकार ने देश के 25-30 उद्योगपतियों के लिए ही काम किया है। आज बैंकों का एनपीए 13 लाख करोड तक पहुंच गया।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कभी सर्जीकल स्ट्राइक का प्रचार नहीं किया जबकि सर्जीकल स्ट्राइक पहले भी किए गए है। आज सेना के अधिकारी कह रहे हैं कि इस सरकार के पहले भी सर्जीकल स्ट्राइक किए गए है तो मोदी इस बात को मजाक में उडा रहे है। मनमोहन सरकार ने मात्र दो सप्ताह में पाकिस्तान स्थित जमात-उद-दावा के आतंकवादी हाफिज सईद को अन्तरराष्ट्ीय आतंकवादी घोषित करवा दिया था। उन्होंने कहा कि पूर्व सेनाध्यक्ष वीके सिंह पूर्व सरकार में सर्जीकल स्ट्राइक करने की बात नकार रहे है। वे तो सुप्रीम कोर्ट में भी झूठ बोले है। अब मोदी सरकार में मंत्री है तो सही कैसे बोल सकते है।