Home CHANDIGARH सरकार ने बनाई विपक्ष के आक्रमण को बेअसर करने की रणनीति

सरकार ने बनाई विपक्ष के आक्रमण को बेअसर करने की रणनीति

58
0

चंडीगढ,22अक्टूबर। हरियाणा विधानसभा के सोमवार से शुरू हो रहे शीतकालीन सत्र में सरकार ने विपक्ष के आक्रमणों को बेअसर करने की रणनीति बना ली है। विधानसभा सचिव के अनुसार विपक्ष के दो ध्यानाकर्षण प्रस्तावों को ध्यानकर्षण प्रस्तावों में बदल दिया गया है। इस तरह सरकार विपक्ष को मुद्दों पर बोलनें का मौका तो देगी लेकिन विधायी कार्य को प्रभावित नहीं होने दिया जाएगा।
इस सत्र में मनोहर लाल खट्टर के नेतृृत्व वाली भाजपा सरकार करीब आधा दर्जन विधेयक पारित कराना चाहती है। विधानसभा सचिव राजेन्द्र कुमार नांदल के अनुसार विपक्ष की ओर से कार्यस्थगन प्रस्तावों के दो नोटिस मिले थे। इन्हें ध्यानाकर्षण प्रस्ताव में बदल दिया गया है। ये कार्यस्थगन प्रस्ताव दादूपुर-नलवी नहर और जेबीटी अध्यापकों की नियुक्ति के सम्बन्ध में दिए गए थे। उन्होंने बताया कि इसके अलावा 17 ध्यानाकर्षण प्रस्ताव भी पेश किए गए है। उन्होंने कहा कि सरकार इस सत्र में करीब आधा दर्जन विधेयक पारित कराना चाहती है। ये विधेयक स्पीकर के पास मंजूरी के लिए भेजे गए है। उन्होंने कहा कि सत्र की अवधि कार्य सलाहकार समिति की बैठक में तय की जायेगी।
उधर कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने रविवार शाम कहा कि पार्टी की ओर से दादूपुर-नलवी नहर परियोजना बंद करने,कानून-व्यवस्था समेत तीन मुद्दों पर कार्यस्थगन प्रस्ताव दिए गए है। इन प्रस्तावों को ध्यानाकर्षण प्रस्तावों में नहीं बदलने दिया जायेगा। कांग्रेस के इस रूख से लगता है कि कार्यस्थगन प्रस्ताव बरकरार रखने के मुद्दे पर सरकार और 17सदस्यीय कांग्रेस के बीच सदन में टकराव की स्थिति बनेगी।