Home CRIME नहीं उठानी पड़ेगी शर्मिंदगी,अब डर्टी पिक्चर को रोकेगा `हर हर महादेव` ऐप

नहीं उठानी पड़ेगी शर्मिंदगी,अब डर्टी पिक्चर को रोकेगा `हर हर महादेव` ऐप

51
0
Photo source .. Twitter

अक्सर ऐसी घटनाएं होती हैं कि भरी मिटिंग जब किसी प्रेजेंटेशन के लिए इंटरनेट खोला जाता है तो अचानक पोर्न मूवी या तस्वीरें उभर आती हैं, जिससे सभी को शर्मिंगदी का सामना करना पड़ता है। कुछ ऐसा ही मामला बीएसएफ के 77वीं बटालियन के मुख्यालय में हो रही अधिकारियों की मीटिंग में प्रजेंटेशन के दौरान एक पॉर्न क्लिप चल गई। और यह हुआ एक बड़े अधिकारी की प्रेजेंटशन के दौरान और इस बैठक में आर्मी ऑफिसर अपने परिवारों के साथ मौजूद थे। इस तरह की घटनाएं आम हो चली हैं। इस तरह की घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए बीएचयू यानी बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के मेडिकल साइंस इंस्टीट्यूट ने ‘हर हर महादेव’ नाम से एक ऐप बनाया है। ऐप के डाउनलोड करने के बाद जब भी कोई पोर्न साइट देखने की कोशिश करेगा, यह ऐप उस साइट को ब्लॉक करके उस पर भजन शुरू कर देगा। यह ऐप मोबाइल और डेस्कटॉप पर भी उपलब्ध रहेगा।

इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसिस के न्यूरॉलजिस्ट प्रोफेसर विजयनाथ मिश्रा और उनकी टीम ने तैयार किया है। उनकी टीम में रिसर्च स्कॉलर स्मृति सिंह, आकांक्षा श्रीवास्तव, अंकित श्रीवास्तव, अमन और अंकित शामिल हैं। प्रोफेसर विजयनाथ मिश्रा ने बताया कि इस ऐप की मदद से उन साइट्स को बंद किया जा सकता है जिन्हें आप देखना पसंद न करते हैं, खासकर पॉर्नोग्रफिक साइट्स को बंद करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि यह ऐप एक तरह से फिल्टर का काम करेगा। इसे डाउनलोड करने के बाद आप बिना किसी झिझक के कहीं भी इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं ।

न्यूरॉलजिस्ट विजयनाथ मिश्रा ने बताया कि अभी तो यह ऐप ‘हर हर महादेव’ के नाम से है और धर्म विशेष को इंगित करता है, लेकिन एक महीने बाद इसमें अन्य धर्मों के विकल्प भी मिलेंगे। जैसे अगर कोई मुस्लिम इस ऐप को इस्तेमाल करना चाहेगा तो उसे यह  ‘अल्लाह ओ अकबर’ के नाम से उपलब्ध होगा। विजयनाथ बताते हैं कि जब वे यह ऐप विकसित कर रहे थे तब उनके दिमाग में उनके मां-बाप, उनके बच्चे, उनके छात्र थे, लेकिन फिर उन्होंने सोचा कि यह ऐप तो सभी के लिए होना चाहिए।उन्होंने बताया कि इसे तैयार करने में लगभग छह महीने का समय लगा और यह ऐप इस समय करीब 35 सौ पोर्न साइट्स को ब्लॉक कर सकता है।

 

बीएचयू के चिकित्सा अधीक्षक ओपी उपाध्याय ने बताया कि यह एक बहुत अच्छा कदम है। इससे समाज में विकृत मानसिकता को फैलने से रोका जा सकेगा।

उन्होंने कहा कि यह मनमोहन मालवीय की धरती है और हम मर्यादाओं के पुजारी है। इसलिए पोर्न साइट पर पाबंदी लगनी जरूरी है।