Home CHANDIGARH चंडीगढ में आम आदमी पार्टी प्रत्याशी के समर्थन में आयोजित जनसभा असर...

चंडीगढ में आम आदमी पार्टी प्रत्याशी के समर्थन में आयोजित जनसभा असर छोडने में नाकाम रही

15
0

केजरीवाल स्वयं दिल्ली सरकार के विकास मॉडल की बात कहकर मिनटों में
हरियाणा रवाना हुए

चंडीगढ,24फरवरी। चंडीगढ लोकसभा सीट से आम आदमी पार्टी प्रत्याशी पूर्व केन्द्रीय मंत्री हरमोहन धवन के समर्थन में रविवार को यहां आयोजित जनसभा असर छोडने में नाकाम रही। जनसभा को संबोधित करने पार्टी के राष्ट्ीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री भी संबोधित करने पहुंचे थे लेकिन वे दिल्ली के विकास मॉडल को चंडीगढ में भी लागू करने की बात कर कुछ मिनटों में ही हरियाणा रवाना हो गए।

चंडीगढ के सेक्टर 25 के रैली ग्राउण्ड पर जनसभा के लिए लगाई गई कुछ सौ कुर्सियां भी पूरी भरी नहीं थीं। अलबत्ता केजरीवाल ने जल्दी में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि अन्ना हजारे के आंदोलन से इस पार्टी का जन्म हुआ। शुरूआत में तो एक भी सीट मिलने की उम्मीद नहीं थी लेकिन दिल्ली में सरकार बनाने में कामयाबी मिली। सरकार गिराने की कोशिशों का भी सामना करना पडा। इसके बावजूद विकास कार्य किए। आजादी के बाद के 70 साल में किसी प्रदेश की सरकार ने इतना काम नहीं किया जितना हमारी सरकार ने किया।

केजरीवाल की रैली, बोले बंबईया एक्ट्रेस के एमपी बनने से चंडीगढ़ को मिला धोखा

केजरीवाल ने कहा कि आज दिल्ली में सरकारी स्कूल प्राइवेट स्कूलों से बेहतर है। सरकारी स्कूलों के नतीजे भी दस फीसदी ज्यादा है। चार साल से प्राइवेट स्कूलों की फीस नहीं बढने दी गई। बढाई गई फीस वापस करवाई। दिल्ली में एक रूपया प्रति यूनिट बिजली दी जा रही है। चंडीगढ में भी यही दर होना चाहिए। दिल्ली की सभी गलियां पक्की की गई है। दिल्ली की तरह चंडीगढ में भी काम कराने के लिए हरमोहन धवन को वोट दें। मौजूदा सांसद किरण खैर ने तो चंडीगढ में कोई काम नहीं करवाया। हरमोहन धवन से तो हाथ पकडकर काम करवा सकते है। धवन के साथ मिलकर मैं काम करवाउंगा। चंडीगढ के लोगों के साथ धोखा हुआ था। किरण खैर तो मुंबई की अभिनेत्री है। वे चंडीगढ के लोगों के बीच नहीं आतीं। आपके वोट से चुनाव जीतकर उन्होंने इज्जत बना ली।


मैंने कभी लोकसभा में किरण खैर को Chandigarh की समस्याओं पर बोलते हुए नहीं सुना – भगवन्त मान

https://youtu.be/TFey9JptBYY

आम आदमी पार्टी के पंजाब के संयोजक और संगरूर से सांसद भगवन्त मान ने भी जनसभा को संबोधित किया और कहा कि मैंने कभी लोकसभा में किरण खैर को चंडीगढ की समस्याओं पर बोलते हुए नहीं सुना। ऐसे लोग वोट लेने के बाद कोठियों के दरवाजे बन्द कर लेते है। वोट तो उसे दें जिसे 20-25 साल राजनीति में रहना हो। केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार पर प्रहार करते हुए मान ने कहा कि मेक इन इंडिया की बात तो की गई लेकिन पटेल की प्रतिमा चीन में बनाई गई और बुलेट ट्ेन जापान से आयेगी। देश के युवाओं से कहा गया है कि पकौडे बेचो। चौकीदार देखता रह गया और लोग बैंक लूटकर चले गए। रातोंरात नोटबंदी का क्या फायदा हुआ। आतंकवाद की कमर कहां टूटी? एक सिर के बदले में दस सिर काटकर लाने और विदेश से काला धन लाने के वायदों का क्या हुआ?भाजपा चुनाव घोषणापत्र से मुकर गई। घोषणापत्र से मुकरने वालों की मान्यता रद््द होने की व्यवस्था की जाना चाहिए। मान ने इस पर एक शेर भी पढा-’पन्द्रह लाख की रकम लिखता हू तो स्याही सूख जाती है,हर वायदा जुमला निकला तो इस बात पर भी शक है कि क्या चाय बनानी आती है’।

हरमोहन धवन ने अपने संबोधन में कहा कि उनकी राजनीति जनसेवा के लिए समर्पित रही। जब विपक्ष में रहे तो संघर्ष कर आम आदमी को राहत दिलाई और जब सत्ता में आए तो जनहित में विकास कार्य भी करवाए।
https://youtu.be/Pz-l1Rb4814